Punjab Election 2022: पंजाब के जालंधर में शनिवार को चुनावी प्रचार के दौरान अरविंद केजरीवाल के धर्मांतरण को लेकर दिये एक बयान पर दिल्ली में बीजेपी ने सवाल खड़े कर दिये हैं. दरअसल शनिवार को अरविंद केजरीवाल ने टाउन हॉल कार्यक्रम के दौरान धर्मांतरण से जुड़े एक सवाल के जवाब में कहा था कि धर्म सबका व्यक्तिगत मामला है, सबको कोई ग्रन्थ या कोई भगवान पूजने का हक है. रिलिजियस कन्वर्जन पर कानून बिल्कुल बनना चाहिए लेकिन ऐसे कानून से किसी को गलत तरीके से परेशान नहीं करना चाहिए. डराकर जो कन्वर्जन कराए जाते हैं वो गलत हैं.

धर्मांतरण के मुद्दे पर घिरे अरविंद केजरीवाल 

अरविंद केजरीवाल के इस बयान पर बीजेपी ने सवाल उठाते हुये कहा कि पहले धर्मांतरण पर दिल्ली में अरविंद केजरीवाल को बिल लेकर आना चाहिये, बीजेपी ने कहा कि अरविंद केजरीवाल सिर्फ चुनाव और वोटों की राजनीति करते हैं. इस पर बीजेपी सांसद राकेश सिन्हा ने कहा कि ये सच है कि पंजाब में ईसाई मिशनरियों द्वारा धर्म परिवर्तन कराया जा रहा है. पंजाब की अस्मिता, संस्कृति और धर्म ख़तरे में है.

राकेश सिन्हा ने कहा कि ‘केजरीवाल पंजाब में लुक छिप कर ये बात कर रहे हैं लेकिन अरविंद केजरीवाल दिल्ली में विधानसभा में इसको लेकर क़ानून बनाने के लिये बिल लेकर क्यों नहीं आते. ये अरविंद केजरीवाल का घोर अवसरवाद है जो पंजाब में चुनाव के समय लोगों को बरगलाने का काम कर रहे हैं.’

बीजेपी प्रवक्ता ने सवाल उठाए

दिल्ली बीजेपी प्रवक्ता हरीश खुराना ने भी केजरीवाल पर सवाल उठाते हुए कहा कि ‘दिल्ली में अरविंद केजरीवाल सत्ता में है और दिल्ली में हम देखते हैं कि धर्मांतरण से जुड़े मामले सामने आते हैं तो वो चुप रहते हैं, इस बारे में कुछ नहीं बोलते हैं.’ हरीश खुराना ने कहा कि ‘खासतौर पर जब से यूपी में बीजेपी की सरकार आई है, तब से यूपी में धर्मांतरण बैन है लेकिन दिल्ली में धर्मांतरण के मामले बढ़ रहे हैं. इस बीच अरविंद केजरीवाल ने कुछ नहीं किया, अब जब पंजाब में चुनाव है और पंजाब में धर्मांतरण का बड़ा मुद्दा बनता जा रहा है तो आप वहां जाकर धर्मांतरण की बात कर रहे हैं.’ हरीश खुराना ने कहा कि मेरा मानना यह है कि पहले आप अपने घर से शुरुआत करिए दिल्ली से शुरुआत करिए, उपराज्यपाल से बात करके बिल लाना चाहिए कि दिल्ली में धर्मांतरण पर बैन लगे.

Manipur Assembly Election 2022: मणिपुर में सभी 60 सीटों पर बीजेपी ने उतारे उम्मीदवार, किसे-कहां से मिला टिकट

बांटने की राजनीति कर रहे विपक्षीः अरविंद केजरीवाल

बीजेपी के सवाल खड़े करने के बाद जब एक बार फिर अरविंद केजरीवाल से इस बारे में एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान सवाल पूछा गया कि आपके विपक्षी आप पर सवाल खड़े कर रहे हैं कि आप धर्मांतरण को लेकर दिल्ली विधानसभा में बिल क्यों नहीं लाते, जहां आपकी सरकार है? इस पर अरविंद केजरीवाल ने ज़्यादा कुछ ना कहते हुये कहा कि विपक्षी बांटने की राजनीति करते हैं.

दरअसल अरविंद केजरीवाल इन दिनों पंजाब में विधानसभा चुनाव के लिये प्रचार-प्रसार में लगे हुये हैं. टाउन हॉल और प्रेस कांफ्रेंस के ज़रिये वो लगातार अलग-अलग मुद्दों पर लोगों तक पंहुचने की कोशिश कर रहे हैं. इसी दौरान उनसे पंजाब में हो रहे धर्मांतरण को लेकर सवाल पूछा गया था.

UP Assembly Elections 2022: अखिलेश पर वार, BJP पर निशाना, असदुद्दीन ओवैसी बोले- सपा समझती है मुसलमान उसका कैदी है, आंख बंद कर वोट देगा



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.