Jammu and Kashmir Crime: जम्मू कश्मीर में एक लड़की पर एसिड फेंकने का मामला सामने आया है. इस मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. जानकारी के अनुसार यह हमला मंगलवार की शाम को हुआ था जब 24 वर्षीय एक महिला अपने घर लौट रही थी. पुलिस ने यह गिरफ्तारी घटना के बाद महिला समूहों और स्थानीय जनता द्वारा किये गये भारी विरोध प्रदर्शन के बाद किया है. जम्मू- कश्मीर पुलिस ने श्रीनगर के ईदगाह इलाके से एसिड हमले में शामिल तीनों आरोपियों को को गिरफ्तार कर लिया है.

आरोपियों के लिये सजा-ए-मौत की मांग

इन गिरफ्तार लोगों में एक स्थानीय दुकानदार भी शामिल है. जिस पर पुलिस के अनुसार आरोप है कि उसने एसिड के भंडारण और बिक्री में सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देशों का उल्लंघन किया है. घटना के बाद जब पुलिस आरोपी हमलावरों की तलाश कर रही थी तब इस घटना के बाद फैले आक्रोश की वजह से सैकड़ों महिलाएं सड़क पर आ गईं थी और घटना का विरोध कर रही थीं. प्रदर्शनकारी महिलाओं ने इस तरह के जघन्य अपराधों में शामिल लोगों के लिए मौत की सजा की मांग की थी. 

एसएमएचएस अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. कंवल जीत सिंह ने पीड़ितों की स्थिति पर टिप्पणी करते हुए कहा कि पीड़िता के चेहरे पर गंभीर चोटें हैं. उन्होंने कहा, उसके चेहरे पर गंभीर चोटें हैं और उसकी आंखों के हिस्से में भी चोट के निशान हैं. हम उसकी आंखों की रोशनी को लेकर अभी अनिश्चित हैं क्योंकि हम कई अन्य चीजों पर भी गौर कर रहे हैं.

पुलिस ने विशेष जांच दल का गठन कर की कार्रवाई

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कहा कि पुलिस थाना नौहट्टा श्रीनगर के हवाल इलाके में 24 वर्षीय लड़की पर तेजाब से हमले की सूचना मिलने के बाद पुलिस ने तेजी से काम किया है. 1 फरवरी 2020 को थाना नौहट्टा में एफआईआर संख्या 08/2022 यू/एस 326-ए के तहत मामला दर्ज किया गया था और जांच शुरू कर दी गई थी. पुलिस ने कहा चूंकि अपराध काफी जघन्य और संवेदनशील था जिसको ध्यान में रखते हुये एसएसपी श्रीनगर राकेश भलवाल ने मामले की जांच के लिए एक विशेष दल का गठन किया. 

एकतरफा प्रेम प्रसंग का था मामला

इस दल में एसपी नार्थ राजा जुहैब के नेतृत्व में टीम ने शुरुआती फील्ड जांच और तकनीकी विश्लेषण के दौरान बुचवाड़ा डलगेट से मुख्य आरोपी साजिद अल्ताफ राथर को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने बताया कि शुरुआती पूछताछ में पता चला है कि आरोपी लड़की को उससे शादी के लिए मजबूर कर रहा था लेकिन पीड़ता द्वारा उसका प्रस्ताव ठुकराने के बाद उसने अन्य आरोपियों के साथ मिलकर घटना को अंजाम दे दिया.

गिरफ्तार आरोपी एक मेडिकल शॉप में काम करता था और हमले की शाम को उसने काम से छुट्टी ले ली और सह-आरोपी मोमिन नजीर शेख के साथ स्कूटी पर उस जगह चला गया जहां लड़की काम करती थी. देर शाम जब पीड़िता घर वापस जा रही थी, तो उसने पीड़िता का पीछाकर उस पर तेजाब फेंक दिया और भागकर अपनी दुकान पर वापस चला गया. मामले में सबूत मिलने पर पुलिस ने दूसरे आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया.

अपराध में इस्तेमाल स्कूटी को पुलिस ने किया जब्त

पुलिस ने बताया कि इस अपराध में इस्तेमाल स्कूटी को भी जब्त कर लिया गया है. पुलिस ने कहा कि आरोपी ने अपने एक परिचित मोहम्मद सलीम से तेजाब खरीदा था, जो डलगेट के पास दुर्गानाथ इलाके में एक मोटर मैकेनिक है और उसे आगे की जांच के लिए गिरफ्तार भी किया गया है.

पुलिस ने तेजाब की दुकान को सील कर दिया है. इसके पीछे पुलिस का तर्क है कि कर्मचारी ने माननीय सुप्रीम कोर्ट के दिशानिर्देशों का उल्लंघन करते हुए तेजाब की बिक्री की थी. श्रीनगर के सभी दुकानदारों को तेजाब की बिक्री पर माननीय सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का पालन करने का सख्त निर्देश दिया गया है, ऐसा नहीं करने पर उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की बात कही गई है. हमले के बाद पुलिस ने अब शहर में तेजाब की बिक्री और भंडारण की जांच के लिए एक विशेष अभियान चलाने की बात कही है.

UP Election: सपा-आरएलडी गठबंधन पर बरसे CM Yogi, बोले- कयामत के दिन तक सपना नहीं होगा पूरा, 10 मार्च के बाद शांत करवा देंगे गर्मी

UP Election: ‘अगर SP की सरकार होती, तो क्या…’, अतरौली में गृह मंत्री अमित शाह ने किया अखिलेश यादव पर जोरदार हमला



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.