[ad_1]

डिजिटल डेस्क, कोहिमा। नगालैंड के मुख्यमंत्री और नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (एनडीपीपी) के नेता नेफिउ रियो ने शुक्रवार को स्पष्ट रूप से कहा कि उनकी पार्टी का भाजपा में विलय नहीं होगा। यहां मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा 2017 से एनडीपीपी की चुनावी सहयोगी है लेकिन उनकी पार्टी के इसमें विलय का सवाल ही नहीं उठता। रियो नगालैंड कांग्रेस अध्यक्ष के थेरी के इस दावे पर प्रतिक्रिया दे रहे थे कि एनडीपीपी 2023 के विधानसभा चुनावों के बाद भाजपा में विलय पर विचार कर रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा, एनडीपीपी का भाजपा में विलय) कभी नहीं कहा। कांग्रेस ने आधारहीन कहानी गढ़ी है। हमारी ईमानदारी के बारे में कोई सवाल उठाने की उनकी कोई नैतिक स्थिति नहीं है। थेरी ने गुरुवार को दावा किया कि एनडीपीपी राज्य में भाजपा की सरकार बनाने पर विचार कर रही है। भाजपा और एनडीपीपी ने पिछले महीने 60 सदस्यीय नगालैंड विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए सीट बंटवारे के सौदे को अंतिम रूप दिया था।

नागालैंड के लिए भाजपा के प्रभारी नलिन कोहली और एनडीपीपी के महासचिव अबू मेथा ने नई दिल्ली में सौदे के बारे में बताते हुए घोषणा की थी कि एनडीपीपी 40 सीटों पर और भाजपा शेष 20 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा और रियो ने राष्ट्रीय राजधानी में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात के बाद सीट बंटवारे का सौदा किया था।

 

(आईएएनएस)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.