डिजिटल डेस्क, तिरुवनंतपुरम। केरल के दो राजनीतिक दलों- माकपा और कांग्रेस नीत यूडीएफ के 140 विधायकों में से एक विधायक ने भाजपा नीत राजग की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को वोट दिया है। केरल विधानसभा में, माकपा के पास 99 विधायक हैं, जबकि कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूडीएफ के पास 41 विधायक हैं। नई दिल्ली में हाल के राष्ट्रपति चुनावों के लिए मतगणना के दौरान, केरल के 139 विधायकों ने संयुक्त विपक्षी उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को वोट दिया, जबकि एक विधायक ने मुर्मू को वोट दिया।

सोशल मीडिया पर अफवाहें चल रही हैं कि यह जद (एस) के दो विधायकों में से एक हो सकते हैं, क्योंकि पार्टी के राष्ट्रीय नेतृत्व ने एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार को वोट देने का फैसला किया था। हालांकि, केरल जद (एस) इकाई द्वारा हाल के राष्ट्रपति चुनावों से पहले इस संभावना को खारिज कर दिया गया था, जब केरल के बिजली मंत्री के कृष्णनकुट्टी और जद (एस) विधायक मैथ्यू टी थॉमस दोनों ने आश्वासन दिया था कि वे सिन्हा को वोट देंगे।

एक और राजनीतिक सिद्धांत जो चारों ओर घूम रहा है, वह यह है कि कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूडीएफ में एकमात्र विधायक मणि सी कप्पन हो सकते हैं, जो सत्तारूढ़ माकपा के नेतृत्व वाले वाम मोर्चे के सहयोगी राकांपा से 2021 के राज्य विधानसभा चुनावों से ठीक पहले अलग हो गए थे।

एक और अफवाह फैल रही है कि चूंकि द्रौपदी मुर्मू एक महिला हैं, इसलिए यह संभवाना हो सकती है कि किसी महिला विधायक ने एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के लिए मतदान किया हो। एक प्रमुख टीवी चैनल के एक लोकप्रिय दैनिक हास्य धारावाहिक ने कहा था कि ऐसा हो सकता है कि सत्तारूढ़ माकपा सरकार के किसी कैबिनेट मंत्री ने मुर्मू को वोट दिया हो। हालांकि, चूंकि इस मुद्दे को किसी भी तरफ से नहीं उठाया जा रहा है, इसलिए सेंधमारी का पता नहीं चल पाया है।

यह पूछे जाने पर कि क्या माकपा के किसी विधायक ने मुर्मू को वोट दिया है, केरल माकपा के सचिव कोडियेरी बालकृष्णन ने कहा, यदि आपको (मीडिया) इसके बारे में कोई जानकारी है, तो आपको इसके बारे में सीपीआई (एम) को बताना चाहिए। इनमें से कोई भी नहीं माकपा विधायक कभी भी ऐसा करेंगे।

 

 (आईएएनएस)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.