President Bodyguard Virat Horse Retired: राष्ट्रपति के अंगरक्षक बेड़े में शामिल घोड़ा ‘विराट’ बुधवार को 73वें गणतंत्र दिवस पर आयोजित परेड के बाद सेवानिवृत्त हो गया. राष्ट्रपति के अंगरक्षक कमांडेंट कर्नल अनूप तिवारी इसके घुड़सवार थे. काले रंग के शानदार कदकाठी वाले घोड़े ‘विराट’ ने गणतंत्र दिवस परेड में 13 बार हिस्सा लिया. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने परेड के बाद घोड़े को प्यार से थपथपाया और विदाई दी.

इससे पहले,15 जनवरी को सेना दिवस की पूर्व संध्या पर विराट को ‘चीफ ऑफ द आर्मी स्टाफ’ पुरस्कार से सम्मानित किया गया. असाधारण सेवा और काबिलियत के लिए पुरस्कार पाने वाला ‘विराट’ पहला घोड़ा है. बता दें कि विराट 19 सालों से लगातार राष्ट्रपति की रक्षा कर रहा है.

‘विराट’ इस साल COAS प्रशस्ति से सम्मानित किया गया था. बता दें कि पीएम मोदी, राष्ट्रपति कोविंद और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गणतंत्र दिवस पर उन्हें विदा किया और उनके सुखद सेवानिवृत्त जीवन की कामना की. राष्ट्रपति के अंगरक्षक बेडे में शामिल विराट कोई आम घोड़ा नहीं है. विराट को अपनी योग्यता, वीरता और सेवाओं के लिए चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ कमांडेशन कार्ड से सम्मानित किया जा चुका है.

इस नायाब घोड़े विराट में कई ऐसी खूबियां है जो इसे दूसरो से अलग बनाती है. बता दें कि विराट ही पहला ऐसा घोड़ा है जिसे बीती 15 जनवरी को असाधारण सेवा और क्षमताओं के लिए थल सेनाध्यक्ष प्रशस्ति पदक दिया गया था. बता दें कि विराट 19 सालों में 13 बार गणतंत्र दिवस की परेड में शामिल हो चुका है क्योंकि परेड के दौरान से सबसे भरोसेमंद था.

UP Election 2022: जाट समाज के करीब 250 नेताओं के साथ अमित शाह की बैठक, जानें क्या है ‘जाटलैंड’ का गणित?



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.