Goa Elections: अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने आज गोवा विधानसभा चुनाव (Goa Election) को लेकर एक प्रेस कांफ्रेंस की. इस दौरान उनकी मौजूदगी में पार्टी के सीएम चेहरे अमित पालेकर (Amit Palekar) ने सभी प्रत्याशियों को इस बात की शपथ दिलाई कि आम आदमी पार्टी (AAP) के सभी प्रत्याशी कट्टर ईमानदार होंगे. उन्होंने कहा कि चुनाव जीतने के बाद ना कभी बिकेंगे और ना कभी दूसरी पार्टी में जाएंगे. अरविंद केजरीवाल ने कहा कि गोवा में पिछले एक-दो चुनावों से देखा जा रहा है कि जीतने के बाद विधायक (MLA) बीजेपी में चले जाते हैं. वे एक तरह से अपने मतदाताओं के वोट को बेच देते हैं, जो उनके साथ धोखा है.

आप संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि एफिडेविट साइन करने की इसलिए जरूरत पड़ी, क्योंकि गोवा की जनता भरोसा नहीं करती है कि ईमानदारी से सरकार चल सकती है और ईमानदार प्रत्याशी हो सकते हैं. हर प्रत्याशी अपने निर्वाचन क्षेत्र के हर घर में एफिडेविट की एक-एक कॉपी भिजवाएगा, ताकि चुनाव जीतने के बाद अगर वे बेइमानी करते हैं या पार्टी बदलते हैं, तो उन पर केस कर सकते हैं.

अरविंद केजरीवाल ने गोवा में आज प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा कि गोवा की राजनीति में आज एक महत्वपूर्ण दिन है. गोवा की राजनीति में दो समस्याएं हैं. राज्य में भ्रष्टाचार बहुत ज्यादा है. गोवा सरकार देश में सबसे संपन्न सरकारों में से एक है. इसके बावजूद गोवा के लोगों को सभी सुविधाएं नहीं मिल पा रही हैं. इसके बावजूद लोगों की ढेर सारी समस्याएं हैं, क्योंकि लोगों का बहुत सारा पैसा चोरी हो जाता है.

दूसरी, चाहे किसी भी पार्टी से कोई चुनाव लड़े, चुनाव जीतने के बाद वह कभी भी किसी दूसरी पार्टी में चला जाता है. अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पिछले एक-दो चुनावों से देखने को मिल रहा है कि चाहे जिस पार्टी से चुनाव लड़ें, लेकिन चुनाव जीतने के बाद वह सारे बीजेपी में चले जाते हैं. यह एक तरह से मतदाताओं के साथ धोखा है. जिसके नाम पर आप वोट लेकर आते हैं और लोग भरोसा दिखाते हैं कि हम उक्त पार्टी को वोट दे रहे हैं, तो एक तरह से आप अपने उन लोगों के वोट को बेच देते हो.

आप संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज गोवा के हमारे सभी प्रत्याशियों ने एक एफिडेविट साइन किया है. एफिडेविट में हमारे सभी प्रत्याशी यह कसम खा रहे हैं कि अगर हम जीते तो ईमानदारी से काम करेंगे, हम रिश्वत नहीं लेंगे, हम भ्रष्टाचार नहीं करेंगे. दूसरा कि हम आम आदमी पार्टी को छोड़कर किसी दूसरी पार्टी में नहीं जाएंगे.

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमने अपने प्रत्याशियों को बहुत ही ध्यान से चुना है. एक-एक प्रत्याशी को हमने देखा है कि वो साफ छवि वाला है, अच्छा प्रत्याशी है, ईमानदार प्रत्याशी है. हमने अपने सभी प्रत्याशी को अच्छे से चुना है. इसलिए सभी ईमानदार प्रत्याशी हैं और अच्छे प्रत्याशी हैं.

उन्होंने कहा कि इसके बावजूद इस एफिडेविट की इसलिए जरूरत पड़ी, क्योंकि जनता को भरोसा दिलाना है. जनता भरोसा नहीं करती है कि ईमानदारी से सरकार चल सकती है और ईमानदार प्रत्याशी हो सकते हैं. इसलिए जनता को भरोसा दिलाना है.

Uttarakhand Election: उत्तराखंड में कांग्रेस का घोषणा पत्र जारी, 5 लाख परिवारों को सालाना 40 हजार रुपए देने का वादा, 4 लाख युवाओं को मिलेगा रोजगार



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.