UP Assembly Election 2022 JP Nadda Akhilesh Yadav: भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्डा ने शुक्रवार को समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव की जिन्ना वाली टिप्पणी पर परोक्ष रूप से चुटकी ली. हालांकि नड्डा ने मोहम्मद अली जिन्ना का नाम नहीं लिया. ‘प्रभावी मतदाता संवाद’ को संबोधित करते हुए नड्डा ने कहा, “ऐसा क्यों है कि अखिलेश यादव को आज भारत के विभाजन के लिए जिम्मेदार व्यक्ति की याद आती है, आखिर क्यों उन्हें सरदार वल्लभभाई पटेल की याद नहीं आती हैं, जिन्होंने देश को एकजुट किया.” 

अखिलेश ने पिछले साल 31 अक्टूबर को हरदोई में आयोजित एक कार्यक्रम में अपने संबोधन में महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू, सरदार पटेल और मुहम्मद अली जिन्ना की बराबरी की थी. उन्होंने कहा था, “सरदार पटेल, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू और (मुहम्मद अली) जिन्ना ने एक ही संस्थान में पढ़ाई की और बैरिस्टर बने. उन्होंने (भारत को) आजादी दिलाने में मदद की और कभी किसी संघर्ष से पीछे नहीं हटे.” 

समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए नड्डा ने दावा किया, ‘सपा के घोषणापत्र में भू-माफिया, बालू माफिया, अपहरण माफिया और उद्योग माफिया हैं,उनकी सरकार में महिलाएं असुरक्षित थीं, कानून व्यवस्था की स्थिति बहुत खराब थी. आज माफिया या तो आत्मसर्मपण कर रहे हैं या जेल जा रहे हैं, या उत्तर प्रदेश छोड़ रहे हैं. सपा के उम्मीदवार या तो जेल में हैं या जमानत पर हैं.” 

UP Election 2022: अखिलेश यादव का वार- तमंचावादी बोलने वालों को देना चाहिए जवाब, किसके साथ 3 घंटे सीएम योगी ने जेल में पी चाय

नड्डा ने शुक्रवार को विपक्षी दलों समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस पर निशाना साधा और भाजपा की केंद्र व राज्‍य सरकार की उपलब्धियां गिनाई. नड्डा ने कहा, ‘‘समाजवादी पार्टी काम के आधार पर वोट मांगने कभी नहीं आई, वह तो हर बार चुनाव में नए वादे करते हैं और आगे बढ़ जाते हैं परंतु भारतीय जनता पार्टी रिपोर्ट कार्ड के आधार पर ही आगे बढ़ी है.’ 

उन्होंने कार्यकर्ताओं से पूछा कि क्या समाजवादी पार्टी 2017 में काम के आधार पर वोट मांगने आई. उन्होंने कहा कि ‘हर बार सपा चुनाव के वक्त नए-नए वादे करके आती है और बाद में आगे बढ़ जाती है परंतु प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिखाया है कि अब पार्टी रिपोर्ट कार्ड के आधार पर ही आगे बढ़ेगी और भाजपा ने जो कहा है वह करके भी दिखाया है.’ 

उन्होंने मतदाताओं से कहा, ‘‘आप चुनाव में वोट देने जा रहे हैं तो आपके पास चुनने का आधार क्या है, तो एक बार तौल कर देखिए कि किसने क्या कहा था और वह पूरा हुआ या नहीं हुआ.’’ नड्डा ने दावा किया कि भाजपा ने जो कहा उसे पूरा किया. उन्होंने किसानों की चर्चा करते हुए कहा, ‘‘अभी पिछले दिनों किसानों के कई नेता बन गए और उन्होंने अपने को नेता कहलवाया, इससे किसानों की हालत खराब होती रही.’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘जो काम किसानों के लिए नरेंद्र मोदी ने किया वह अभी तक किसी ने नहीं किया है. 2014 से पहले 22 हजार करोड़ रुपये का कृषि बजट होता था लेकिन अब यह बजट एक लाख 23 हजार करोड़ रुपये का होता है. यह बजट बताता है कि किसानों के लिए समर्पण किसका है. किसानों की लागत का डेढ़ गुना मूल्य देने का काम भी प्रधानमंत्री ने किया है.’’ 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.