Punjab Assembly Election 2022: पंजाब के पठानकोट के वार्ड नंबर 19 में उस समय दहशत का माहौल बन गया जब वार्ड में बीजेपी की ओर से एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था, जिसमें पठानकोट से बीजेपी उम्मीदवार और बीजेपी पंजाब प्रधान अश्वनी शर्मा को विशेष तौर पर पहुंचना था. लेकिन उनके पहुंचने से पहले ही कुछ शरारती तत्वों की ओर से रैली में हंगामा किया गया, जिसमें तेजधार हथियारों से हुए हमले में करीब 4 लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए. 

घायलों को इलाज के लिए सरकारी हॉस्पिटल ले जाया गया. यही नहीं इस रैली में लगाई गई कुर्सियां भी तोड़ी गईं और शरारती तत्वों ने रैली में पहुंचे लोगों को भी नुकसान पहुंचाया. बीजेपी की रैली पर हुए इस हमले को लेकर बीजेपी पंजाब प्रधान ने भी प्रशासन और कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए हैं.

शरारती तत्वों ने की रैली में तोड़फोड़ 

इस बारे में जब लोगों से बात की गई तो उन्होंने कहा कि वह रैली में पहुंच रहे थे कि तभी वार्ड के ही कुछ शरारती तत्वों ने रैली ना करने को लेकर हंगामा करना शुरू कर दिया और तोड़फोड़ शुरू कर दी. इस रैली में आये शरारती तत्वों ने तेजधार हथियारों के साथ रैली में मौजूद लोगों को जख्मी किया है.

उन्होंने बताया कि अश्विनी शर्मा के इस रैली में पहुंचने से पहले ही शरारती तत्वों ने हंगामा कर रैली नहीं होने दी वहीं जख्मी हुए लोगों ने इंसाफ की मांग की है. इस बारे में बात करते हुए डॉक्टर ने बताया कि कुछ लोग जख्मी हालत में हॉस्पिटल आए हैं उनका इलाज चल रहा है. फिलहाल सभी की हालत सही बताई जा रही है.

प्रशासन कानून व्यवस्था संभालने में रहा नाकाम

बीजेपी द्वारा आयोजित इस रैली में हुए इस हमले पर बात करते हुए अश्वनी शर्मा ने कहा कि बीजेपी की रैली में कुछ शरारती तत्वों ने हंगामा किया है. जोकि सरासर गलत है उन्होंने कहा कि प्रशासन कानून व्यवस्था बरकरार रखने में नाकामयाब साबित हुआ है.

चुनाव के बीच Navjot Singh Sidhu के लिए मुसीबत, रोडरेज मामले में सज़ा बढ़ाने की मांग पर सुप्रीम कोर्ट करेगा सुनवाई

Punjab Election 2022: पंजाब में कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ीं, 9 विधानसभा सीटों पर हुई बगावत, जानें इन सीटों की कहानी



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.