Amarinder Singh Vs Navjot Singh Sidhu: पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने सोमवार को नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) को लेकर दावा कर पंजाब की सियासत में सनसनी फैला दी. उन्होंने कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Sidhu) को मंत्री बनाने के लिए उनके पास पाकिस्तान से संदेश आया था. उनके इस बयान पर सिद्धू ने पूर्व मुख्यमंत्री को ‘फुंका कारतूस’ करार दिया.

बता दें कि कांग्रेस से अलग होने के बाद अपनी नयी पार्टी बनाने वाले अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) पंजाब में बीजेपी के साथ गठबंधन कर विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं. सोमवार को नई दिल्ली में इसकी औपचारिक घोषणा के मौके पर आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में अमरिंदर सिंह ने कहा, ‘‘…मैं पाकिस्तान की बात कर रहा हूं…पाकिस्तान से यह मैसेज आया कि मुझे (पाकिस्तान के) प्राइम मिनिस्टर ने एक रिक्वेस्ट भेजा, अगर आप सिद्धू को अपनी कैबिनेट में ले सकते हैं तो मैं आपका आभारी रहूंगा… वह मेरा पुराना दोस्त है… और अगर वह काम नहीं करेगा तो निकाल देना.’’

उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि वर्ष 2017 में राज्य का मुख्यमंत्री बनने के बाद जब उन्होंने सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) को अपनी कैबिनेट में शामिल किया था, तब वह कुछ काम नहीं करते थे, इसलिए उन्हें पद से हटा दिया गया था. अमरिंदर ने कहा, ‘‘मैंने सिद्धू को पद से हटाया क्योंकि वह इनकम्पीटेंट (अक्षम), यूजलेस (बेकार) था. 70 दिन में उसने एक फाइल पूरी नहीं की थी.’’

पूर्व मुख्यमंत्री ने दावा किया कि इसके बाद भी जब सिद्धू के रवैये में कोई सुधार नहीं हुआ, तो उन्हें हटाना पड़ा. उन्होंने कहा कि इसके बाद उन्हें मंत्री बनाने के लिए पाकिस्तान से संदेश आया था.

पूर्व मुख्यमंत्री की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए सिद्धू (Sidhu) ने उन्हें ‘‘फुंका कारतूस’’करार दिया और आगे कुछ और टिप्पणी करने से इंकार किया. सिद्धू के साथ मौजूद कांग्रेस नेता अल्का लांबा ने पत्रकारों के सवालों पर कहा कि अगले संवाददाता सम्मेलन में वे पूर्व मुख्यमंत्री के आरोपों पर अपना जवाब देंगे.

बता दें कि नवजोत सिद्धू और अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) के बीच विवाद गहराने के बाद अंतत: अमरिंदर को पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था. इसके बाद कांग्रेस ने एक दलित चेहरे को आगे करते हुए चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री पद की कमान सौंपी.

बाद में कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने पंजाब लोक कांग्रेस का गठन कर लिया. आगामी पंजाब चुनाव के मद्देनजर बीजेपी का पंजाब लोक कांग्रेस और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुखदेव सिंह ढींढसा के नेतृत्व वाले शिरोमणि अकाली दल (संयुक्त) के साथ गठबंधन हुआ है. पंजाब में 20 फरवरी को एक चरण में वोट डाले जाएंगे.

Punjab Election 2022: BJP ने गठबंधन का किया एलान, 65 सीटों पर खुद लड़ेगी चुनाव, जानें कैप्टन की पार्टी को मिली कितनी सीटें





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.