विज्ञान की वजह से कई असंभव लगने वाले काम भी संभव हो गए हैं. विज्ञान की तरक्की के साथ-साथ इंसान भी तेजी से आगे बढ़ रहा है. इसी फेहरिस्त में विज्ञान की वजह से एक और करिश्मा होने वाला है. दुनिया के मशहूर बिजनेसमैन एलन मस्क ब्रेन-कंप्यूटर इंटरफेस टेक्नोलॉजी पर काम कर रहे हैं. वे इसका इंसानों पर ट्रायल करने के लिए एक कदम और आगे बढ़ा चुके हैं. 

एलन मस्क के न्यूरोटेक स्टार्टअप Neuralink ने क्निलिकल ट्रायल Clinical Trial Director के लिए जॉब पोस्ट किया है. इसका मतलब है कि Neuralink ब्रेन-चिप रिसर्च को अगले स्टेज पर ले जाने के लिए पूरी तरह से तैयार है. एलन मस्क का स्टार्टअप इससे पहले सूअर और बंदर पर यह ट्रायल कर चुका है. इस ट्रायल में एक 9 साल के बंदर में चिप लगाई गई थी, जिससे वह केवल माइंड से ही वीडियो गेम खेल पा रहा था. 

एलन मस्क का यह स्टार्टअप टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके ह्यूमन-एआई सिम्बोयोसिस बनाने की कोशिश में है. मस्क ने पिछले महीने कहा था कि ह्यूमन पर इसका ट्रायल 2022 में शुरू होगा. इससे जुड़ी एक बड़ी सूचना यह भी है कि इसमें पैरालिसिस वाले लोगों को शामिल किया जा सकता है. इससे कंप्यूटर कर्सर का डायरेक्ट न्यूरल कंट्रोल गेन करने की कोशिश की जा सकती है. 

अहम बात यह भी है कि जिस पोस्ट के लिए ये जॉइनिंग की जा रही है इसमें कहा गया है कि यह पद उस कैंडिडेट के लिए होगा जो इस मिशन को समझता हो और आगे बढ़ने के लिए उत्सुक हो. क्लिनिकल ट्रायल डायरेक्टर को सबसे ज्यादा इनोवेटिव डॉक्टर्स और इंजीनियर्स के साथ में काम करना होगा. 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.