हिन्दू युवती और मुस्लिम युवक के लव जिहाद को प्रेम बताने वालों को ये खबर ज़रूर पढ़नी चाहिए। एक ट्रक ड्राइवर मोनू जो म्हणत करके अपने परिवार का भरण पोषण करता था उससे एक गलती हो गयी जो एक मुसलमान लड़की से प्यार कर बैठा। प्यार को इबादत कहने वाले मुस्लिम समाज के लड़की के भाई ने ट्रक ड्राइवर की गला घोंट कर निर्मम हत्या कर दी।

यह घटना डिलारी पुलिस थाना क्षेत्र की है जहाँ मोनू सिंह गांव की एक मुस्लिम लड़की से प्यार कर बैठा था। इस बात की भनक लड़की के भाई वसीम और नसीम को लग गई, जिसके बाद मौका देख कर उन दोनों ने मोनू सिंह को मार डाला।

एक विशेष समाज जो मुस्लिम लड़का और हिन्दू लड़की के प्यार को सही ठहराता है, वही समाज आज इस घटना पर चुप है। ये कहाँ तक सही है कि मुस्लिम लड़का हिन्दू लड़की से प्यार कर सकता है लेकिन हिन्दू लड़का मुस्लिम लड़की से प्यार नहीं कर सकता है। ऐसा करने पर उसे मार दिया जाता है। और हम सब हिन्दू मुस्लिम की एकता की बात करते है। मुस्लिम समाज न कभी इस देश में रहने लायक था न है और न ही रहेगा।

मृतक मोनू सिंह बुधवार सुबह शौच करने के लिए जंगल गया था और उसी के बाद से वह लापता हो गया। गुरूवार को गांव के बाहर एक खेत में मोनू का शव मिला। मोनू के भाई मोंटी ने शक के आधार पर वसीम, नसीम, फैजाब और यामीन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। मोंटी ने पुलिस से बताया था कि उसका भाई एक दूसरे समुदाय की लड़की के साथ प्रेम करता था। इस बात का पता लड़की के भाइयों को लग गया था, जिसके बाद उन लोगों ने मोनू को जान से मारने की धमकी भी दी थी और मौका मिलते ही मोनू को मार डाला।

शुक्रवार शाम को पुलिस ने आरोपित नसीम और वसीम को डिलारी थाना क्षेत्र के राजपुर केसरिया गांव से गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के दौरान दोनों आरोपियों ने अपने गुनाह कबूल कर लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.