Parliament Staff Corona Positive: संसद का बजट सत्र शुरू होने में महज 8 दिन रह गए हैं लेकिन उससे पहले संसद भवन के 875 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं. यह आंकड़ा 20 जनवरी तक का है. 31 जनवरी से संसद का बजट सत्र शुरू होना है. सूत्रों के हवाले से यह जानकारी सामने आई है. देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के तीन लाख 33 हजार 533 नए केस सामने आए हैं और 525 लोगों की मौत हो गई. देश में दैनिक पॉजिटिविटी रेट अब 17.78 फीसदी है. बड़ी बात यह है कि देश में आज कल से 4 हजार 171 कम मामले आए हैं.

देश में अब एक्टिव मामलों की संख्या बढ़कर 21 लाख 87 हजार 205 हो गई है. वहीं, इस महामारी से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 4 लाख 89 हजार 409 हो गई है. आंकड़ों के मुताबिक, कल दो लाख 59 हजार 168 लोग ठीक हुए, जिसके बाद अभी तक 3 करोड़ 65 लाख 60 हजार 650 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं.

ये भी पढ़ें- Republic Day से पहले दिल्ली कितनी तैयार? पुलिस कमिश्नर ने कहा- एंट्री ड्रोन सिस्टम लगाए गए, हर चीज पर बारीकी से नजर

देश में लगातार बढ़ते मामलों की चपेट में अब संसद भवन के कर्मचारी भी आ गए हैं. बता दें कि सरकार ने एक सर्वदलीय बैठक बुलाई है, जो बजट सत्र से पहले 31 जनवरी को दोपहर 3 बजे होने की संभावना है. सर्वदलीय बैठक के बाद, उसी दिन बजट सत्र शुरू होगा। राष्ट्रपति का अभिभाषण सुबह 11 बजे शुरू होगा, जिसके बाद आर्थिक सर्वेक्षण होगा. बजट 2022-23 संसद के बजट सत्र की पहली छमाही के दौरान 1 फरवरी को पेश किया जाएगा, जो आमतौर पर हर साल जनवरी के अंतिम सप्ताह में शुरू होता है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण मोदी 2.0 सरकार का अपना चौथा बजट पेश करेंगी.

पीएम मोदी अकसर इन बैठकों में शामिल होते हैं और अकसर विपक्ष से संसद को सुचारू रूप से चलाने का अनुरोध करते हैं. पिछले महीने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के वित्त मंत्रियों के साथ केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट से पहले की बैठकें की थीं. 

ये भी पढ़ें- ABP Opinion Poll: यूपी में कौन मारेगा बाजी, पूर्वांचल-बुंदेलखंड-अवध और पश्चिमी यूपी में किसका दबदबा? सामने आए चौंकाने वाले आंकड़े

यह बजट ऐसे समय पर पेश किया जाएगा, जब देश की अर्थव्यवस्था कोविड-19 की मार से बाहर निकल रही है. अनुमान है कि इस वित्त वर्ष में ग्रोथ डबल डिजिट में होगी. आरबीआई ने अपने नए द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा में 2021-22 में सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर 9.5 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया है. सरकार ने सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के 6.8 प्रतिशत के राजकोषीय घाटे का भी अनुमान लगाया.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.