Andhra Pradesh News: आंध्र प्रदेश सरकार ने अपने कर्मचारियों को बड़ा तोहफा देते हुए सेवानिवृत्ति की आयु को 60 साल से बढ़ाकर 62 साल करने का अध्यादेश जारी कर दिया है. राज्यपाल बिस्वभूषण हरिचंदन (Biswabhusan Harichandan) ने इस अध्यादेश को लागू कर दिया. एक गजट अधिसूचना में कहा गया, “वरिष्ठ कर्मचारियों के अनुभव और विशेषज्ञता का उपयोग करने और सामान्य रूप से बढ़ी हुई जीवन प्रत्याशा एवं बेहतर स्वास्थ्य स्थितियों पर विचार करते हुए राज्य सरकार के सभी कर्मचारियों के लिए सेवानिवृत्ति की वर्तमान आयु 60 से बढ़ाकर 62 वर्ष करने का प्रस्ताव किया गया है.”

राज्यपाल ने आंध्र प्रदेश सार्वजनिक रोजगार (सेवानिवृत्ति की आयु का नियमन) (संशोधन) अध्यादेश, 2022 को लागू किया. राज्य मंत्रिमंडल ने 7 तारीख को मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी की घोषणा के अनुरूप आंध्र प्रदेश सार्वजनिक रोजगार अधिनियम 1984 में संशोधन के प्रस्ताव को 21 जनवरी को मंजूरी दी थी.

Punjab के आईएएस अफसर को CBI ने 2 लाख की रिश्वत लेते हुए किया गिरफ्तार, जानें पूरा मामला

अध्यादेश में राज्यपाल ने कहा कि अधिनियम में संशोधन एक जनवरी 2022 से प्रभावी होगा. अधिनियम को पहले 2014 में संशोधित किया गया था, जिसमें सेवानिवृत्ति की आयु 58 से बढ़ाकर 60 वर्ष की गई थी. राज्य सरकार ने सेवानिवृत्ति की आयु में वृद्धि को सही ठहराते हुए कहा कि इससे 2014 की तुलना में औसत जीवन प्रत्याशा में उल्लेखनीय सुधार हुआ है.

राज्य सरकार ने पिछले दिनों ही यह फैसला कर लिया था कि सरकारी कर्मचारियों की रिटायरमेंट की आयु को बढ़ाया जाएगा. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, 2019 में वैश्विक औसत जीवन प्रत्याशा लगभग 73 वर्ष थी और औसत भारतीय 70 वर्ष तक जीवित रहे. डब्ल्यूएचओ ने कहा कि स्वास्थ्य की स्थिति में भी सुधार हुआ है.

यह भी पढ़ेंः केजरीवाल सरकार ने कर्मचारियों के Corona मुआवजे से जुड़े मामलों को देखने के लिए मंत्री समूह का किया गठन



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.