Mahatma Gandhi’s Favourite Hymn Dropped From Beating Retreat: कांग्रेस ने महात्मा गांधी के पसंदीदा ईसाई स्तुति गीतों में से एक ‘अबाइड विद मी’ की धुन को इस साल के ‘बीटिंग रिट्रीट’ समारोह से हटाए जाने को लेकर शनिवार को सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि यह राष्ट्रपिता की विरासत को मिटाने का एक और प्रयास है.

पार्टी प्रवक्ता शमा मोहम्मद ने ट्वीट किया, “महात्मा गांधी के पसंदीदा स्तुति गीत को इस बार के बीटिंग रिट्रीट समारोह से हटा दिया गया. यह बापू की विरासत को मिटाने का बीजेपी सरकार का एक और प्रयास है.” उन्होंने यह भी कहा, “गांधी जी के खिलाफ टिप्पणी करने वाली साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई. यह बीजेपी का गोडसे प्रेम है.”

कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने भी इस मुद्दे को लेकर सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि इस समय गांधी जी और उनके हत्यारे नाथूराम गोडसे के विचारों को माननों वालों के बीच वैचारिक युद्ध चल रहा है. उन्होंने आरोप लगाया, “मौजूदा समय में केंद्र में जो सरकार है, वह गोडसे के विचारों को मानने वाली है. वह गांधी जी के खिलाफ टिप्पणी करने वालों के विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं करती.”

महात्मा गांधी के पसंदीदा ईसाई स्तुति गीतों में से एक ‘अबाइड विद मी’ की धुन को इस साल 29 जनवरी को होने वाले ‘बीटिंग रिट्रीट’ समारोह से हटा दिया गया है. भारतीय सेना द्वारा शनिवार को जारी एक विवरण पुस्तिका से इसकी जानकारी मिली. स्कॉटलैंड के एंग्लिकन कवि हेनरी फ्रांसिस लाइट द्वारा 1847 में लिखित ‘अबाइड विद मी’ 1950 से ‘बीटिंग रिट्रीट’ समारोह का हिस्सा रहा है. विवरण पुस्तिका में कहा गया है कि इस साल के समारोह का समापन ‘सारे जहां से अच्छा’ के साथ होगा.

ये भी पढ़ें-

मोदी सरकार पर बरसे सीएम अशोक गहलोत, बोले- अमर जवान ज्योति को बंद करना शहादत का अपमान है

‘घोषणापत्र’ में Sanjay Singh के Yogi सरकार पर बड़े वार, दिए तीखे सवालों के जवाब, मंदिर के मुद्दे का भी किया जिक्र



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.