मुंबई पुलिस (Mumbai Police) ने जाली नोट (Fake Currenc) छापने और उसका वितरण करने वाले एक अंतरराज्यीय गिरोह का पर्दाफाश किया है. अधिकारियों ने बताया कि पुलिस (Police) ने बुधवार को गिरोह के सात लोगों को गिरफ्तार किया और उनके पास से करीब सात करोड़ (7 Crores) रुपये मूल्य के नकली भारतीय नोट बरामद किये. उन्होंने बताया कि गोपनीय सूचना के आधार पर, मुंबई अपराध शाखा (Crime Branch) की इकाई-11 ने मंगलवार शाम को दहिसर चेक पोस्ट पर एक कार को रोका. गिरफ्तारी के बाद आरोपियों को एक स्थानीय अदालत में पेश किया गया जहां से उन्हें 31 जनवरी तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया.

अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने कार में बैठे चार लोगों को पकड़कर उनसे पूछताछ की. कार की तलाशी में अपराध शाखा के अधिकारियों को एक बैग मिला जिसमें (दो हजार के) नकली नोटों के 250 बंडल थे जिनका मूल्य करीब पांच करोड़ रुपये है. अधिकारी के मुताबिक कार में सवार चार लोगों से पूछताछ में पुलिस को उनके तीन और साथियों का पता चला.

इसके बाद पुलिस ने अंधेरी (पश्चिम) में एक होटल में छापेमारी की और तीनों को गिरफ्तार कर लिया. अधिकारी ने कहा कि उनके पास से (दो हजार के) नकली नोटों के सौ और बंडल मिले जिनका मूल्य दो करोड़ है. नकली नोटों के अलावा आरोपियों के पास से पुलिस ने एक लैपटॉप, सात मोबाइल फोन, 28,170 रुपये के असली नोट और कई अन्य चीजें बरामद की गई है. डीसीपी संग्रामसिंह निशानदार (डिटेक्शन-1) ने कहा कि जांच में पता चला कि नकली नोट छापने और उनके वितरण में एक अंतरराज्यीय गिरोह काम कर रहा था.

Photos: घोड़ा ‘विराट’ हुआ रिटायर, राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी ने प्यार से थपथपाकर दी विदाई

UP Election 2022: जाट समाज के करीब 250 नेताओं के साथ अमित शाह की बैठक, जानें क्या है ‘जाटलैंड’ का गणित?



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.