Mumbai Police Drugs: ड्रग्स पेडलर्स और सप्लायर्स पर मुंबई पुलिस का एक्शन लगातार जारी है. अब मुंबई पुलिस की एंटी नारकोटिक सेल (ANC) ने एक ऐसे गिरोह को पकड़ा है जो छोटी-छोटी कार का इस्तेमाल ड्रग्स सप्लाई करने के लिए करते हैं.

करीब 28 लाख 75 हजार का गांजा 
ANC के DCP दत्ता नलावड़े ने एबीपी न्यूज़ से बात करते हुए बताया कि, उनके कांदिवली यूनिट को जानकारी मिली थी कि एक होंडा एकोर्ड गाड़ी में ड्रग्स की सप्लाई की जाने वाली है जिसके बाद ANC की एक टीम ने ट्रैप लगाकर होंडा गाड़ी को रोका और जब उस गाड़ी की बारीकी से जांच की गई तो उस गाड़ी में कई कैविटी मिली, जिसमें से 115 किलोग्राम गांजा मिला. जिसकी क़ीमत अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में क़रीब 28 लाख 75 हज़ार रुपए है. 

नलावड़े ने बताया कि जब तक आपको पक्का जानकारी ना मिले तब तक आप ऐसे कंसाइनमेंट पकड़ नहीं सकते. ड्रग्स सप्लाई करने के लिए पहले ये गैंग बड़ी गाड़ियों का इस्तेमाल करती थी. लेकिन अब छोटी गाड़ियों का इस्तेमाल कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें – RPN Singh Joins BJP: बीजेपी में शामिल हुए आरपीएन सिंह, कांग्रेस को दिया झटका

ओडिशा से आता है ड्रग्स
जांच के दौरान यह भी पता चला कि ये लोग ड्रग्स ओडिशा के भरमपुर इलाक़े से आता है. इस इलाक़े का इतिहास देखा जाए तो पहले ये नक्सल प्रभावित इलाक़े में आता था, पर अब इसे नक्सल ग्रस्त इलाक़ों की लिस्ट से निकाल दिया गया है. सूत्रों ने बताया कि यह इलाक़ा अब भले ही नक्सल प्रभावित नही हैं फिर भी ऐसा लगता है की पूरी तरह से नक्सलियों से मुक्त नहीं हुआ है.

मुंबई में रहने वाले दो आरोपी गिरफ्तार 
इस मामले में गिरफ़्तार एक आरोपी का नाम इमरान अबरार हुसैन अंसारी है, ये ठाणे ज़िले का रहने वाला है और दूसरा आरोपी इस्माइल सलीम शेख़ मुंबई के पवई इलाक़े का रहने वाला है. डीसीपी नलावड़े ने बताया की ये ड्रग्स बड़ी मात्रा में ओडिशा और आंध्र प्रदेश से महाराष्ट्र और ख़ासकर मुंबई में सप्लाई किया जाता है. इस मामले का जो मुख्य आरोपी है वो हमारे रडार पर है. इसके पहले वो भारत छोड़कर नेपाल भाग गया था पर अब पता चला है कि वो भारत में वापस आया है. हम उसके पीछे हैं.

उन्होंने कहा कि, हम उम्मीद जता रहे हैं कि वो जल्द ही हमारी गिरफ़्त में आएगा, जिसके बाद उससे पूछताछ में हमें उस बेल्ट से चल रहे ड्रग्स सिंडिकेट से जुड़ी और भी जानकारी मिलेगी. इसके अलावा राजस्थान से हीरोईन और हिमाचल प्रदेश और कश्मीर से चरस की सप्लाई करने वाले गिरोह का भी हमने पर्दाफ़ाश किया है.

ये भी पढ़ें – Param Vishisht Seva Medal 2022: गोल्ड मेडलिस्ट Neeraj Chopra को मिलेगा ‘परम विशिष्ट सेवा मेडल’



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.