पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने मंगलवार को राज्यसभा में विपक्ष पर जमकर हमला बोला. पीएम मोदी ने कहा कि यूपीए के समय महंगाई डबल डिजिट में थी. विपक्ष अपनी निराशा देश पर न थोपे. विपक्ष को अपने पुराने दिन याद आते रहते हैं.  

पीएम मोदी ने आगे कहा, देश जब आजादी के 100 साल मनाएगा, तब हमें देश को कहां ले जाना है, कैसे ले जाना है, इसके लिए ये बहुत अहम समय है. पीएम मोदी ने कहा, दुनिया अब भी कोविड-19 से जूझ रही है. मानवता ने पिछले 100 साल में ऐसी चुनौती नहीं देखी है.

पीएम मोदी ने कहा कि कोविड के दौर में परेशानियों के बीच हमने गरीबों को घर मुहैया कराया. पीएम मोदी ने कहा कि कोविड के दौर में 80 करोड़ गरीबों को मुफ्त राशन दिया गया. भारत ने विश्व के सामने एक उदाहरण पेश किया है. 

पीएम मोदी ने कहा, पहले लॉकडाउन के दौरान काफी विचार-विमर्श और थोड़े साहस के साथ तय हुआ कि गांवों के किसानों को लॉकडाउन से छूट दी जाए. यह एक जरूरी फैसला था, जिसके परिणामस्वरूप हमारे किसानों ने महामारी के दौरान भी बंपर उत्पादकता की थी.

पीएम मोदी ने कहा, इस महामारी के दौरान हमारे देश के युवाओं ने अपनी पहचान बना कर देश को गौरवान्वित किया है. हमारे युवाओं ने खेल के क्षेत्र में अपनी पहचान बनाई और महामारी के कारण अपने प्रदर्शन को प्रभावित नहीं होने दिया और देश का नाम रोशन किया.

पीएम मोदी ने कहा, कोविड से पहले के समय के तुलना करें तो लॉकडाउन हटने के बाद हायरिंग दो गुना बढ़ गई हैं. NASSCOM की रिपोर्ट में भी यही ट्रेंड नजर आया है. हाल ही के वर्षों में 27 लाख लोगों को आईटी सेक्टर में नौकरियां मिली हैं. 

पीएम ने कहा, ऐसी स्थिति में, हमने महंगाई को कंट्रोल करने की कोशिश की. साल 2015-2020 के बीच दर 4-5 प्रतिशत थी. यूपीए के समय यह डबल डिजिट में थी. आज हम इकलौती अर्थव्यवस्था हैं, जो तेजी से आगे बढ़ रही है और महंगाई भी मध्यम है.

महंगाई ने पूरी दुनिया को प्रभावित किया है. अमेरिका 40 साल में सबसे ज्यादा और ब्रिटेन 30 साल में सबसे ज्यादा महंगाई का सामना कर रहा है. यूरो वाले देश अपनी मुद्रा के रूप में भी अभूतपूर्व मुद्रास्फीति का सामना कर रहे हैं.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.