Lata Mangeshkar Death: स्वर कोकिला लता मंगेशकर का रविवार को निधन हो गया. पिछले 29 दिन से वह मुम्बई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती थीं. 8 जनवरी को लता मंगेशकर को कोविड पॉजिटिव पाया गया था. लता जी के निधन के बाद देश में दो दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित किया गया है. 

लता दीदी के निधन पर एक तरफ जहां पूरा देश शोक में हैं वहीं राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और उत्तर प्रदेश के सीएम योगी समेत तमाम नेताओं ने दुख व्यक्त किया. पीएम ने ट्वीट करते हुए लता दीदी को अंतिम विदाई दी है.

उन्होंने कहा, ‘मैं ये दुख शब्दों में बयां नहीं कर पा रहा हूं. दयालु और देखभाल करने वाली लता दीदी हमें छोड़कर चली गईं. वह हमारे देश में एक खालीपन छोड़ गई है जिसे भरा नहीं जा सकता. आने वाली पीढ़ियां उन्हें भारतीय संस्कृति के एक दिग्गज के रूप में याद रखेंगी, जिनकी सुरीली आवाज में लोगों को मंत्रमुग्ध करने की अद्वितीय क्षमता थी. 

 

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने जताया शोक

लता जी के निधन पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भी शोक जताया है. उन्होंने कहा, ”देश की शान और संगीत जगत की शिरमोर स्वर कोकिला भारत रत्न लता मंगेशकर जी का निधन बहुत ही दुखद है. पुण्यात्मा को मेरी भावभीनी श्रद्धांजलि. उनका जाना देश के लिए अपूरणीय क्षति है. वे सभी संगीत साधकों के लिए सदैव प्रेरणा थी.” 

ये भी पढ़ें:

Lata Mangeshkar: जब Hema Malini पहुंच गई थीं लता मंगेशकर को मनाने, इस वजह से सिंगर ने कर दिया गाने से इंकार

Lata Mangeshkar: जब Asha Bhosle ने की थी R. D. Burman से शिकायत, कहा- अच्छे गाने लता दी को, मुश्किल गाने मुझे





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.