Punjab Assembly Elections 2022: पंजाब के चुनावी घमासान के बीच सत्ताधारी पार्टी कांग्रेस के भीतर मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवारी को लेकर एक घमासान चल रहा है. सीएम के पद पाने के लिए कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू और मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी दोनों आमने-सामने हैं. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी कल 2 बजे लुधियाना में कांग्रेस के सीएम फेस का एलान करेंगें.

सिद्धू-चन्नी के लिए कल बड़ा दिन

पंजाब चुनाव में कसरत कर रहे कांग्रेस के दो बड़े नेताओं के लिए कल का दिन बड़ा है. राहुल गांधी के एलान से पहले ही सिद्धू ने एक सेल्फ गोल वाला बयान दे दिया है और आलाकमान को नाराज करने वाली बात कह दी है. सिद्धू ने अमृतसर में कहा, ‘’आलाकमान हमेशा पंजाब को कमजोर सीएम का चेहरा देना चाहता है. आलाकमान चाहता है कि सीएम हमारे इशारों पर नाचने वाला हो.’’ हालांकि सिद्धू के मीडिया सलाहकार ने कहा है कि सिद्धू दरअसल केंद्र सरकार की तरफ इशारा कर रहे थे.

आलाकमान जो भी फैसला करेगा, मैं उसे स्वीकार करूंगा- सिद्धू

लेकिन इस बयान के करीब 5 घंटे पहले तक सिद्धू की जुबान अलग थी. जब उन्होंने एबीपी न्यूज से बातचीत में दूसरी बात कही थी. सिद्धू ने कहा था, ‘’पार्टी आलाकमान के फैसले को स्वीकार किया जाएगा. कांग्रेस आलाकमान बहुत समझदार है और आलाकमान जो भी फैसला करेगा, मैं उसे स्वीकार करूंगा.’’ चन्नी के भतीजे की गिरफ्तारी पर सिद्धू ने कहा कि जब तक कोई दोषी नहीं होगा, उसे दोषी नहीं ठहराया जा सकता.

सीएम की रेस में चन्नी का नाम सिद्धू से आगे

तो सवाल है कि क्या सिद्धू को अगले 5 घंटे में ये एहसास हो गया और ये पता चल गया कि सीएम कैंडिडेट के तौर पर किसके नाम का एलान होने वाला है और इसिलिए नाराज सिद्धू ने आलाकमान के खिलाफ ही बयान दे दिया? साफ है कि पार्टी में सबको इस बात की भनक लग चुकी है कि सीएम की रेस में चन्नी का नाम सिद्धू से आगे चल रहा है.

यह भी पढ़ें-

Assembly Elections: ताबड़तोड़ प्रचार का सुपर सैटरडे, सहारनपुर जाएंगी मायावती तो उत्तराखंड पहुंचेंगे राहुल गांधी, डोर डू डोर कैंपेन करेंगे योगी

Jammu Kashmir Encounter: Srinagar के जकुरा में सुरक्षाबलों के साथ हुई मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर, दो पिस्टल बरामद



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.