suresh chavhanke

1 मार्च 2022 को गुरुग्राम के सेक्टर 31 में ग्रेनाइट और कई प्रकार के विध्वंसक ज़ख़ीरे को हरियाणा पुलिस ने पकड़ा है। यह विस्फोटक वहाँ पकड़ा गया है जहां 19 फ़रवरी को सुदर्शन न्यूज़ के प्रधान संपादक सुरेश चव्हाणके 4 घंटे के लिए आए थे और घटना स्थल के पास ही कोर्टयार्ड मेरीयट होटल में परिवार के साथ रात्री में रूके थे।

ये घटना उस समय की है जब सुरेश चव्हाणके, लता मंगेशकर जी के श्रद्धांजलि कार्यक्रम में अपने परिवार के साथ शामिल हुए थे। सोशल मीडिया पर प्रसारित हुई थी जिससे आतंकवादीयो को जानकारी मिली होगी। लेकिन प्रशासन भगवान का धन्यवाद कर रहा है की एक बार फिर आतंकी अपने मंसूबों में नाकामयाब रहे।

सुरेश चव्हानके की हत्या की सुपारी लेने वाले तीन आतंवादी शब्बीर चोपडा, इम्तियाज पठान और अय्यूब जावरावाला को गुजरात ATS ने पकड़ कर पुलिस हिरासत में भेज दिया गया था, जहाँ उन्होंने चव्हाणके का घर और सुदर्शन चैनल के कार्यालय के साथ ही महाराष्ट्र के शिर्डी में उनके पैतृक घर पर भी रेकी करने की बात क़बूली थी। गुजरात ATS के अनुसार, आरोपियों के पास से हिटलिस्ट बरामद की गई थी इस हिटलिस्ट में सुदर्शन न्यूज के प्रधान संपादक सुरेश चव्हाणके आतंकवादियों की हिट लिस्ट में हैं और गुरुग्राम से कोई नहीं था , ना गुरुग्राम सहित हरियाणा कभी आतंकवादियों के निशाने पर रहा है। इसलिए भी आज पकड़ा गया गोलाबारूद का लिंक सुरेश चव्हाणके के शहर की यात्रा से लगाया जा रहा है।

बता दें कि पिछले महीने दिल्ली में पुरानी सीमापुरी इलाके में एक घर से आइईडी मिला था, जिसे दिल्ली पुलिस ने उसे सील कर दिया था। दरअसल, 14 जनवरी को दिल्ली में गाजीपुर फूल मंडी में मिले आइईडी की जांच के दौरान दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल की टीम चार संदिग्ध युवकों की तलाश करते हुए पुरानी सीमापुरी स्थित सुनार वाली गली के एक मकान में पहुंची थी। युवक गायब थे, लेकिन घर की तलाशी लेने पर बैग में संदिग्ध सामान मिला था। इसके बाद राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) की टीम ने रोबोट की मदद से आइईडी को निष्क्रिय कर दिया था।

ये विस्फोटक पदार्थ कहां से लाए गए गुरुग्राम पुलिस इस मामले की जाँच कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.