कपिल सिब्बल ने 16 मई को कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया है। साथ ही बुधवार को उत्तर प्रदेश में पार्टी मुख्यालय में पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव की उपस्थिति में समाजवादी पार्टी के समर्थन से राज्यसभा के लिए अपना नामांकन दाखिल किया। कपिल सिब्बल ने संवाददाताओं से कहा कि उन्होंने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया है और वर्तमान में एक स्वतंत्र आवाज हैं। उन्होंने आगे कहा, ‘मैंने निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर नामांकन दाखिल किया है। मैं हमेशा से देश में एक स्वतंत्र आवाज बनना चाहता था

सिब्बल ने कहा, “स्वतंत्र आवाज होना जरूरी है। विपक्ष में रहकर हम गठबंधन बनाना चाहते हैं ताकि हम मोदी सरकार का विरोध कर सकें।”

समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने एएनआई से बात करते हुए कहा, “आज कपिल सिब्बल ने राज्यसभा के लिए नामांकन दाखिल किया है। वह सपा के समर्थन से राज्यसभा जा रहे हैं। दो और लोग सदन में जा सकते हैं। कपिल सिब्बल एक वरिष्ठ वकील हैं। उन्होंने संसद में अपनी राय अच्छी तरह से प्रस्तुत की है। हमें उम्मीद है कि वह सपा के साथ-साथ खुद दोनों की राय पेश करेंगे।

इससे पहले जनवरी 2017 में सिब्बल ने चुनाव आयोग में तर्क दिया था कि अखिलेश यादव को ‘साइकिल’ का चुनाव चिह्न मिलना चाहिए और अखिलेश को आखिरकार चुनाव चिह्न मिल गया।

कांग्रेस के लिए ये एक और झटका है। सिब्बल का इस्तीफा सुनील जाखड़ और हार्दिक पटेल के कांग्रेस से इस्तीफा देने के करीब आता है, जिसने हाल ही में उदयपुर में ‘चिंतन शिविर’ आयोजित किया था।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश की 11 उच्च सदन सीटों के लिए चुनाव चल रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.