पीएम मोदी कुछ गुजरात के दौरे पर हैं। पीएम ने राजकोट के एटकोट में नवनिर्मित माटुश्री केडीपी मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल का उद्घाटन किया। इसके तुरंत बाद वो राजकोट पहुंचे जहाँ वो एक जनसभा को संबोधित कर रहे हैं, पीएम ने कहा कि आठ साल से, उनकी सरकार भारत के लोगों की सेवा करने की पूरी कोशिश कर रही है। उन्होंने वैक्सीन की पहुंच सुनिश्चित करने में सरकार के प्रयासों पर भी प्रकाश डाला क्योंकि भारत ने दुनिया के बाकी हिस्सों की तरह कोविड -19 से लड़ाई लड़ी।

प्रधान मंत्री ने आगे कहा, “जब लोगों के प्रयास सरकार के प्रयासों से जुड़ते हैं, तो हमारी सेवा करने की ताकत बढ़ जाती है। राजकोट में यह आधुनिक अस्पताल (केडीपी मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल) इसका एक प्रमुख उदाहरण है।” 8 साल में हमने बापू और सरदार पटेल के सपनों का भारत बनाने के लिए ईमानदार प्रयास किए। बापू एक ऐसा भारत चाहते थे जो गरीबों, दलितों, आदिवासियों, महिलाओं को सशक्त बनाए, जहां स्वच्छता और स्वास्थ्य जीवन का एक तरीका बन जाए। ; जिनकी आर्थिक व्यवस्था में स्वदेशी समाधान हैं।”

पेश हैं मोदी के भाषण की कुछ प्रमुख बातें :

– देश में जब कोरोना महामारी शुरू हुई, तो गरीबों को खाद्य संकट का सामना करना पड़ा। हमने देश के लोगों के लिए खाद्यान्न भंडार खोले। महिलाओं के सम्मानजनक जीवन के लिए जन धन बैंक खातों में सीधा हस्तांतरण किया गया। किसानों के बैंक खातों में पैसे ट्रांसफर किए गए।

– हमने भी मुफ्त गैस सिलेंडर की व्यवस्था की ताकि गरीबों की रसोई हो। जब चिकित्सा उपचार की चुनौतियां बढ़ीं, तो हमने गरीबों के लिए परीक्षण और उपचार सुविधाओं को आसान बनाया। जब टीके आए, तो हमने हर भारतीय के लिए मुफ्त टीके सुनिश्चित किए।

बाद में दिन में, प्रधान मंत्री महात्मा मंदिर, गांधीनगर में ‘सहकार से समृद्धि’ पर विभिन्न सहकारी संस्थानों के नेताओं के संगोष्ठी में भाग लेंगे, जहां वह इफको, कलोल में निर्मित नैनो यूरिया (तरल) संयंत्र का भी उद्घाटन करेंगे। लगभग 175 करोड़ रु. नैनो यूरिया के उपयोग से फसल की पैदावार में वृद्धि को ध्यान में रखते हुए अल्ट्रामॉडर्न नैनो फर्टिलाइजर प्लांट की स्थापना की गई है। संयंत्र प्रतिदिन 500 मिलीलीटर की लगभग 1.5 लाख बोतलों का उत्पादन करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.