सोशल मीडिया पर ध्वजारोहण का एक वायरल वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें कुछ लोग ध्वजारोहण करते हुए नज़र आ रहे हैं साथ ही वीडियो में दिख रहा है कि एक महिला को एक शख्स को पीट रही है और आसपास के लोग बीच बचाव कर रहे है। वीडियो को शेयर कर दावा किया जा रहा है कि स्वतंत्रता दिवस पर महिला के साथ छेड़छाड़ करने के बाद कांग्रेस नेता की पिटाई हुई है।

जब असली न्यूज़ ने इसकी पड़ताल की तो वायरल दावा गलत साबित हुआ। पड़ताल में हमने पाया कि यह वीडियो 2014 का है और इसमें दिख रही महिला YSR कांग्रेस नेता सुशीला हैं। वीडियो में जिस शख्स को पीटते हुए देखा जा रहा है, वो तेलंगाना के करीमनगर जिले के YSR कांग्रेस अध्यक्ष भास्कर रेड्डी हैं। पुराने वीडियो को स्वतंत्रता दिवस से जोड़कर वायरल किया जा रहा है।

वायरल दावे की सच्चाई जानने के लिए हमने गूगल पर संबंधित कीवर्ड्स से सर्च करना शुरू किया। तो हमें वायरल दावे से जुड़ी एक रिपोर्ट एनडीटीवी की वेबसाइट पर 15 अगस्त 2014 को प्रकाशित मिली। जिसके अनुसार, तेलंगाना के करीमनगर जिले में कांग्रेस पार्टी कार्यालय में झंडा फहराने के समारोह में दो नेता आपस में भिड़ गए।

इसी दौरान हमें वायरल वीडियो का पूरा वीडियो मैंगो न्यूज के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर अपलोड मिला। वीडियो को अगस्त 2014 को शेयर किया गया था। कैप्शन में दी गई जानकारी के मुताबिक, वाईएसआर कांग्रेस की महिला नेता ने अपनी ही पार्टी के नेता की पिटाई की।

अतः अपनी पड़ताल में हमने पाया कि नेताओं की मारपीट के वीडियो को लेकर किया जा रहा वायरल दावा 2014 का है जिसे हालिया बताते हुए स्वतंत्रता दिवस से जोड़कर वायरल किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.