Delhi Coronavirus Cases: दिल्ली (Delhi) में कोरोना संक्रमण का कहर जारी है. रविवार को पिछले 24 घंटों के दौरान दिल्ली में 22 हज़ार 751 लोग वायरस (Corona Virus) की चपेट में आए, जिसके बाद कोरोना से संक्रमित होने वालों की कुल संख्या 15 लाख 49 हज़ार 730 तक जा पहुंची. आज आए केस करीब 8 महीने में सबसे ज्यादा मामले हैं, इससे पहले 1 मई को 25 हज़ार 219 मामले सामने आए थे. आज दिल्ली में कोरोना का इलाज करवा रहे 17 मरीज़ों ने दम तोड़ दिया. इसके साथ ही मौतों का आंकड़ा अब 25 हज़ार 160 तक जा पहुंचा है. 16 जून के बाद ये मौत का सबसे बड़ा आंकड़ा है, इससे पहले 16 जून को 25 लोगों की कोरोना से मौत हुई थी. 

पिछले 24 घंटों के दौरान 10 हज़ार 179 कोरोना के मरीज़ ठीक हुए, जिसके बाद इस बीमारी से उबरने वालों की कुल संख्या अब 14 लाख 63 हज़ार 837 हो गई है. फिलहाल दिल्ली में 60 हज़ार 733 कोरोना के एक्टिव केस हैं. आज पॉजिटिविटी रेट यानी कोरोना संक्रमण की दर 25.53 हो गई.

 

इससे पहले शनिवार को दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के 20 हज़ार 181 नए मामले सामने आए थे और सात मरीज़ों की मौत हुई थी. बीते रोज़ दिल्ली में संक्रमण दर 19.60 प्रतिशत थी. शुक्रवार को 17 हज़ार 335 कोविड-19 मामले सामने आये थे.

लॉकडाउन पर क्या बोले सीएम केजरीवाल?

दिल्ली सरकार ने यह कहते हुए प्रवासी श्रमिकों एवं व्यापारियों का डर कम करने का प्रयास किया कि रोजीरोटी बचाने के लिए उसकी कोशिश है कि लॉकडाउन नहीं लगे और कम से कम कोविड पाबंदियां लगायी जायें. राष्ट्रीय राजधानी में पिछले कुछ दिनों से कोविड-19 रोजाना मामले तेजी से बढ़े हैं. प्रवासी श्रमिकों को 2020 तथा पिछली कोविड लहर की तरह लॉकडाउन लग जाने का अंदेशा है, ऐसे में उन्हें अपनी कमाई पर गहरी मार पड़ने एवं गंभीर वित्तीय संकट में फंस जाने का डर सता रहा है.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस बात पर जोर दिया कि अस्पतालों में मरीजों की भर्ती की दर कम है और यदि सभी लोग मास्क लगाते हैं तो लॉकडाउन की जरूरत नहीं पड़ेगी. उन्होंने कहा, ‘‘कोविड के बढ़ते मामले चिंता का विषय है लेकिन घबराने की जरूरत नहीं है. बहुत कम लोग अस्तपाल में भर्ती किये जा रहे हैं . मास्क लगाना महत्वपूर्ण है. यदि आप मास्क लगाते रहेंगे तो लॉकडाउन नहीं होगा. फिलहाल लॉकडाउन लगाने की कोई योजना नहीं है.’’

दिल्ली सरकार कोरोना वायरस के प्रसार को थामने के लिए पहले ही नाइट कर्फ्यू और वीकेंड कर्फ्यू समेत कई पाबंदियां घोषित कर चुकी है. केजरीवाल ने कहा कि वह और दिल्ली के उपराज्यपाल एवं केंद्र कोविड की स्थिति पर कड़ी नजर बनाये हुए हैं. उन्होंने कहा, ‘‘हमारी कोशिश कम से कम पाबंदियां लगाना है ताकि रोजीरोटी प्रभावित न हो.’’

Corona Crisis: संसद के 400 कर्मचारी पाए गए कोरोना पॉजिटिव, राज्यसभा चेयरमैन वेंकैया नायडू ने जारी किए दिशानिर्देश

Covid-19: दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों पर सीएम केजरीवाल बोले- घबराने की नहीं है जरूरत, लॉकडाउन पर दिया ये बयान





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.