पंजाब के मुख्यमंत्री द्वारा उठाये गए की सब सराहना कर रहे है। दरअसल पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री को भ्रष्टाचार के आरोपों में मुख्यमंत्री भगवंत मान द्वारा बर्खास्त कर दिया गया था। जिस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए, दिल्ली के सीएम और आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार (24 मई) को कहा, उन्हें भगवंत मान पर गर्व है और उनकी कार्रवाई से उनकी आंखों में आंसू आ गए हैं। दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने ट्विटर पर लिखा, “आप पर गर्व है भगवंत। आपकी हरकत से मेरी आंखों में आंसू आ गए। पूरा देश आज आप पर गर्व महसूस कर रहा है।”

जिस के बाद मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा कि उनकी सरकार भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टॉलरेंस रखती है। आगे बात करते हुए उन्होंने कहा कि यह निर्णय तब लिया गया जब उन्हें पता चला कि सिंगला कथित तौर पर अपने विभाग की निविदाओं और खरीद में एक प्रतिशत कमीशन की मांग कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने पुलिस को सिंगला के खिलाफ मामला दर्ज करने का भी निर्देश दिया है। सूत्रों ने बताया कि बाद में उसे पंजाब पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

भगवंत मान ने एक वीडियो संदेश में कहा, “एक मामला मेरे संज्ञान में लाया गया जिसमें मेरी सरकार में एक मंत्री अपने विभाग की प्रत्येक निविदा या खरीद से एक प्रतिशत कमीशन की मांग कर रहा था। मैंने इस मामले को बहुत गंभीरता से लिया। केवल मैं इस मामले को जानता था। न तो मीडिया और न ही विपक्ष इसे जानता था।

उन्होंने कहा, “मैं उस मंत्री के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर रहा हूं और उन्हें कैबिनेट से हटा रहा हूं। मैं पुलिस को उनके खिलाफ मामला दर्ज करने के निर्देश भी दे रहा हूं।” उन्होंने कहा, “उस मंत्री का नाम विजय सिंगला है।

मान ने कहा कि सिंगला कथित तौर पर उनके विभाग में गलत कामों में शामिल था और उसने भी इसे स्वीकार किया है। आप सरकार की भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टॉलरेंस है, यह कहते हुए कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी 2015 में अपने खाद्य और आपूर्ति मंत्री को हटा दिया था और मामले को सीबीआई को सौंप दिया था।

52 वर्षीय विजय सिंगला मानसा सीट से विधायक चुने गए। उन्होंने पंजाबी गायक और कांग्रेस उम्मीदवार शुभदीप सिंह सिद्धू, जिन्हें सिद्धू मूसेवाला भी कहा जाता है, को हराया था। सिंगला एक डेंटल सर्जन हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.