सोशल मीडिया पर महाराष्ट्र के वर्तमान मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नाम से एक पोस्ट वायरल हो रही है। वायरल वीडियो में एक मंच पर बहुत सारे लोगों को नाचते हुए देखा जा सकता है, जिसमें कुछ महिलाएं भी शामिल हैं। लोग वीडियो को वायरल कर दावा कर रहे हैं कि वीडियो में महिलाओं के साथ डांस करते व्यक्ति महाराष्ट्र के वर्तमान मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे हैं।

जब इसकी पड़ताल असली न्यूज ने की तो वायरल दावा गलत निकला। वायरल वीडियो में दिख रहे व्यक्ति कवठे पिरान के सरपंच भीमराव माने है।

वायरल वीडियो की पड़ताल करते हुए सबसे पहले हमने वीडियो को ठीक से देखा। हमने देखा कि मंच पर कोई सुरक्षाकर्मी नहीं था। अगर वीडियो में दिख रहे शख्स महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे होते तो मंच पर सुरक्षाकर्मी मौजूद होते। वीडियो में मंच के पीछे बैनर पर ‘टाइगर ग्रुप ऑर्गनाइज्ड’ लिखा देखा जा सकता है। इससे यह स्पष्ट हो जाता है कि यह कार्यक्रम महाराष्ट्र में एक टाइगर समूह द्वारा आयोजित किया गया था।

आगे पड़ताल करते हुए हमने कीवर्ड के साथ खोज की और महाराष्ट्र में सक्रिय ‘टाइगर ग्रुप’ कौन-कौन से हैं। ढूंढ़ने पर हमें टाइगर ग्रुप महाराष्ट्र के बारे में जानकारी मिली। यह महाराष्ट्र में तानाजी जाधव द्वारा संचालित एक सक्रिय सामाजिक संगठन है। हमने टाइगर ग्रुप महाराष्ट्र से जुड़े कुछ लोगों से बात की।

हमने इस ग्रुप के राहुल पाटिल से बात की। असली न्यूज ने उनके साथ वायरल वीडियो शेयर किया। उन्होंने बताया, “वीडियो 15 सितंबर का है, जब टाइगर समूह ने कवठे पिरान में ‘रस्सी खींच’ प्रतियोगिता का आयोजन किया था। प्रतियोगिता का विशेष आकर्षण ‘गौरी पुनेकर डांस शो’ भी था। वायरल वीडियो में दिख रहे व्यक्ति गांव का सरपंच भीमारो माने है, जो हिंदकेसरी मारुति माने के भतीजे हैं। चूंकि यह एक सार्वजनिक कार्यक्रम था, इसलिए कई लोगों ने इसे रिकॉर्ड किया था।”

इसकी पुष्टि टाइगर समूह के एक अन्य स्वयंसेवक विशाल शिंदे ने भी की थी।

हालांकि, हमें मूल वीडियो का पता नहीं चल सका, लेकिन हम यह पता लगाने में सफल रहे कि वायरल वीडियो में दिख रहे व्यक्ति महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे नहीं, बल्कि भीमराव माने हैं।

अतः असली न्यूज की पड़ताल में यह स्पष्ट हो गया कि वायरल दावा गलत है। वायरल वीडियो में दिख रहे व्यक्ति कवठे पिरान के सरपंच भीमराव माने हैं, महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.