टोल टैक्स को लेकर सोशल मीडिया पर एक दावा खासा वायरल हो रहा है। वायरल दावे में केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी का हवाला देते हुए कहा जा रहा है, “अगर आप 12 घंटे की पर्ची कटवाकर इतने समय में ही लौट आते हैं तो कोई टोल टैक्स नहीं देना होगा।” वायरल मैसेज में आगे लिखा है कि लोगों को इस बात की जानकारी कम ही होती है और इस बात का टोल कर्मी फायदा उठाते हैं और उन्हें मूर्ख बनाते हैं।

असली न्यूज़ ने जब इस वायरल पोस्ट की पड़ताल की तो पाया कि वायरल दावा फ़र्ज़ी है। वायरल दावे की सच्चाई जानने के लिए हमने सबसे पहले नेशनल हाईवे अथॉरिटी (NHAI) की वेबसाइट को सर्च किया। इस दौरान हमें NHAI द्वारा जारी टोल प्लाजा यूजर फीस एग्रीमेंट लेटर प्राप्त हुआ। इस लेटर में सिंगल जर्नी, मल्टीपल जर्नी और मंथली पास के किराए के बारे में जानकारी दी गई थी, लेकिन इसमें 12 घंटे की टोल पर्ची के बारे में कुछ नहीं लिखा हुआ है।

आगे जाँच करते हुए हमने गूगल पर कीवर्ड्स सर्च किया। इस दौरान हमें वायरल दावे से जुड़ी कोई विश्वसनीय मीडिया रिपोर्ट नहीं मिली। जिसमें इस बात का जिक्र हो कि नितिन गडकरी ने इस तरह का कोई बयान दिया है। हमने नितिन गडकरी के सोशल मीडिया अकाउंट्स को भी खंगाला, लेकिन हमें दावे से जुड़ी कोई पोस्ट वहां पर भी नहीं मिली।

जांच के दौरान हमें परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर दावे से जुड़ा एक ट्वीट प्राप्त हुआ। 28 दिसंबर 2018 परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने ट्वीट कर वायरल दावे का खंडन किया था। ट्वीट में मंत्रालय ने इस मैसेज का जिक्र करते हुए, इसे गलत बताया है।

अतः अपनी पड़ताल में हमने पाया कि वायरल दावा गलत है। नितिन गडकरी ने इस तरह का कोई बयान नहीं दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.