[ad_1]

Manipur Election 2022: मणिपुर (Manipur) में 2017 में विधानसभा की चार सीटें जीतने वाले क्षेत्रीय दल नगा पीपुल्स फ्रंट (NPF) ने सोमवार को कहा कि वह इस बार 10 सीटों पर चुनाव लड़ेगा. शिवसेना (Shiv Sena) ने भी राज्य की 60 सदस्यीय विधानसभा के चुनाव (Election) के लिए छह उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की है. एनपीएफ ने एक बयान में कहा कि उसके प्रत्याशी उन 10 निर्वाचन क्षेत्रों से लड़ेंगे, जो अनुसूचित जनजाति (एसटी) श्रेणी के लिए आरक्षित है. मणिपुर (Manipur) में 20 एसटी निर्वाचन क्षेत्र हैं और सभी पहाड़ियों पर स्थित हैं. अधिकांश नगा जनसंख्या भी पर्वतीय क्षेत्रों में रहती है.

कई सालों तक पड़ोसी राज्य नगालैंड में शासन करने वाले एनपीएफ ने पिछले चुनाव में जीतने वाले चार विधायकों को फिर से प्रत्याशी बनाया है. इनमें डी. कोरुंगथांग शामिल हैं, जिन्होंने कांग्रेस के टिकट पर 2017 का विधानसभा चुनाव जीता था लेकिन इस साल जनवरी में एनपीएफ में शामिल हो गए थे.

पूर्व मंत्री फ्रांसिस नगाजोकपा तदुबि और पूर्व विधायक के. पम्मेई तामेंगलोंग से चुनाव लड़ेंगे. सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी राम मुइवा भी एनपीएफ से चुनाव लड़ेंगे. शिवसेना के प्रदेश अध्यक्ष एम टोम्बी सिंह ने कहा कि बाकी उम्मीदवारों की घोषणा जल्दी ही की जाएगी. 

मणिपुर की 60 सीटों पर दो चरणों में वोट डाले जाएंगे. राज्य में पहले चरण की वोटिंग 27 फरवरी को और 3 मार्च दूसरे चरण का मतदान होगा. वोटों की गिनती 10 मार्च को होगी. माना जा रहा है कि मणिपुर में इसबार मुकाबला काफी रोचक देखने को मिल सकता है. मणिपुर में विधानसभा का कार्यकाल 19 मार्च 2022 को खत्म हो रहा है.

Budget 2022: सेना ने सरकार को सौंपी ‘विशलिस्ट’, पाक-चीन से सीमा विवाद के बीच कितना बढ़ेगा बजट?

9 राज्यों में हिंदुओं को अल्पसंख्यक का दर्जा देने की मांग, केंद्र का जवाब दाखिल न होने पर नाराज़ SC ने लगाया जुर्माना

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.