सोशल मीडिया पर जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की एक फोटो तेज़ी से वायरल हो रही है। जिसमें वो मंदिर में पूजा करते दिख रही हैं। नीचे कैप्शन में लिखा है कि जम्मू-कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती ने गांदरबल के खीर भवानी मंदिर में पूजा की। फोटो को शेयर कर यूजर्स दावा कर रहे हैं कि अनुच्छेद 370 समाप्त होने के बाद महबूबा मुफ्ती ने मंदिर में पूजा की।

वायरल फोटो की पड़ताल जब असली न्यूज टीम ने की तो पाया कि वायरल फोटो जून 2016 की है। उस समय महबूबा मु्फ्ती जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री थीं, जबकि आर्टिकल 370 अगस्त 2019 में समाप्त हुआ है। मतलब यह फोटो 370 समाप्ति से पहले की है।

सच जानने के लिए सबसे पहले हमने गूगल रिवर्स इमेज का सहारा लिया। इससे सर्च करने पर हमें अमर उजाला में 13 जून 2016 को छपी फोटो गैलरी मिली। इसमें वायरल फोटो भी अपलोड की गई है। खबर के अनुसार, महबूबा मुफ्ती गांदरबल के खीर भवानी मंदिर में आयोजित मेले में पहुंचीं। मेले में हजारों कश्मीरी पंडित भी पहुंचे।

आगे सर्च करते हुए ये फोटो हमें पीटीआई के फोटो आर्काइव में मिल गई। जिसके कैप्शन में लिखा है कि जम्मू-कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती ने गांदरबल के खीर भवानी मंदिर में पूजा की। इस पर 12 जून 2016 की तारीख लिखी हुई है।

इसके बाद हमने 370 समाप्ति के बारे में सर्च किया। 5 अगस्त 2019 को जागरण में छपी खबर के मुताबिक, 70 साल बाद केंद्र सरकार ने अनुच्छेद 370 को खत्म कर दिया है। सोमवार सुबह गृह मंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में ऐलान किया कि राष्ट्रपति कोविंद ने 370 को समाप्त करने की अधिसूचना जारी कर दी है।

अतः हमारी पड़ताल में यह साबित हो गया कि महबूबा मुफ्ती की मंदिर में पूजा करने वाली यह फोटो जून 2016 की है, जबकि आर्टिकल 370 को खत्म करने का ऐलान अगस्त 2019 में हुआ है। वायरल फोटो अनुच्छेद 370 समाप्त होने से पहले की है। फोटो के साथ भ्रामक दावा किया जा रहा है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.