एशिया कप 2022 में भारत-पाकिस्तान मैच के दौरान भारतीय क्रिकेटर अर्शदीप सिंह से एक कैच छूटने का बवाल बन चुका है। पाकिस्तान से उन्हें ट्रोल किया गया। यहां तक कि उनके विकीपीडिया पेज पर खालिस्तानी से संबंध होने की बात भी लिख दी गई थी।

4 सितंबर 2022 के मैच में अर्शदीप ने 18 वें ओवर की तीसरी गेंद पर आसिफ अली का कैच छोड़ा था, जिसके बाद देखा गया कि अचानक उनको सोशल मीडिया पर ट्रोल किया जाने लगा। कुछ अकॉउंट्स से उन्हें देश विरोधी जैसे शब्द तक कहे गए।

इस मैच में भारत पांच विकेट से हार गया था। मोहम्मद जुबैर ने भी ट्वीट किए। उसने ट्वीट में कुछ स्क्रीनशॉट साझा किए। जिसके बाद जुबैर एक बार फिर विवादों में घिर गए। वह अर्शदीप के खिलाफ पाकिस्तानी साजिश का हिस्सा बने। क्रिकेट खिलाड़ी अर्शदीप और सिख समुदाय के खिलाफ नफरत फैलाई। इस संबंधमें सांसद मनजिंदर सिंह सिरसा ने संसद मार्ग थाने में शिकायत दर्ज कराई है।

सिरसा का कहना है कि ये सब का आईएसआई का एजेंडा है। पाकिस्तान के वैरिफाइड अकाउंट से सबकुछ किया गया है और इसमें बहुत योगदान मोहम्मद जुबैर का है। मोहम्मद जुबैर ने कैसे लोगों को संपर्क किया। किस तरह से जो फ्रेश अकाउंट थे, उनके ट्वीट किए।

वहीं पूर्व क्रिकेटर हरभजन सिंह भी इस बीच अर्शदीप के समर्थन में आये और उन्होंने बिना सारे मामले को समझे भारतीयों को फटकारते हुए कहा, “युवा अर्शदीप की आलोचनाएँ बंद करो। कोई जानबूझ कर कैच को नहीं छोड़ता है। हमें अपने लड़कों पर गर्व है। पाकिस्तान ने बढ़िया खेला। शर्म आनी चाहिए उन लोगों को जो अपने लोगों को ऐसा कहकर नीचा गिराते हैं। अर्शदीप सोना है।”

पाकिस्तानियों ने केवल सोशल मीडिया पर ही अर्शदीप को खालिस्तानी दिखाने की कोशिश नहीं की। बल्कि उन्होंने विकिपीडिया पर भी अर्शदीप का डाटा बदला। देख सकते हैं कि जहाँ-जहाँ अर्शदीप के नाम के साथ भारतीय होना चाहिए वहाँ जानबूझकर खालिस्तान लिखा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.