पूरी दुनिया कोरोना महामारी से लड़ रही है और इसमें सबसे ज्यादा योगदान हमारे कोरोना के योद्धा (Corona Warriors) का है। इसमें सबसे आगे है डॉक्टर और नर्सेस। दिन रात लोगों की सेवा करके यह लोग उम्मीद की ज्योत जलाए हुए है। आज के दिन यानि 12 मई को नर्सेस के योगदान (Contribution) को याद करने और उनके प्रति सम्मान प्रकट करने के लिए इंटरनेशनल नर्सेस डे (International Nurse Day) मनाया जाता है।

12 मई को हर साल अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस मनाया जाता है। यह दिन अंग्रेजी समाज सुधारक और आधुनिक नर्सिंग के संस्थापक फ्लोरेंस नाइटिंगेल की जयंती का प्रतीक है। 1974 से इसे आधिकारिक तौर पर मनाया जा रहा है। अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस मनाने के लिए 12 मई को अंतर्राष्ट्रीय नर्स परिषद (ICN) द्वारा चुना गया था।

इस मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी ने स्वास्थ्य विभाग के एक प्रमुख स्तंभ को बधाई दी है. उनके साथ केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया और नितिन गडकरी ने भी बधाई दी है।

पीएम मोदी ने ट्वीट किया, “अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस सभी नर्सिंग स्टाफ के लिए सबसे चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में भी उनके असाधारण काम के लिए हमारी प्रशंसा को दोहराने का दिन है।”

हमारे ग्रह को स्वस्थ रखने में नर्सों की अहम भूमिका होती है। उनका समर्पण और करुणा अनुकरणीय है। अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस सबसे चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में भी सभी नर्सिंग स्टाफ को उनके असाधारण काम के लिए हमारी प्रशंसा को दोहराने का दिन है।

दूसरी ओर सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने भी ट्वीट किया, “आइए हम नर्सिंग बिरादरी को उनके समर्पण, दृढ़ संकल्प, निस्वार्थता और साहस के लिए सलाम करते हैं।”

साथ ही, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री, डॉ मनसुख मंडाविया ने ट्वीट किया, “हम चल रहे कोविड -19 महामारी के दौरान अत्यधिक समर्पण के साथ मानव जाति की सेवा करने के लिए मेहनती नर्सिंग स्टाफ के लिए अपना आभार व्यक्त करते हैं।

#InternationalNursesDay पर, हम चल रहे #COVID19 महामारी के दौरान अत्यधिक समर्पण के साथ मानव जाति की सेवा करने के लिए मेहनती नर्सिंग स्टाफ के प्रति आभार व्यक्त करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.