दिल्ली के जहांगीरपुरी में नवरात्री को हिंसा भड़क गयी थी। कथित तोर पर मुस्लिम भीड़ ने हनुमान जयंती पर पथराव किया था। दिल्ली पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना द्वारा जहांगीरपुरी की घटना के बारे में मीडिया को जानकारी देने के कुछ मिनट बाद, सोमवार (18 अप्रैल, 2022) दोपहर को उसी क्षेत्र में ताजा हिंसा भड़क उठी। नवीनतम रिपोर्टों के अनुसार, उत्तर पश्चिमी दिल्ली के जहांगीरपुरी में तैनात पुलिसकर्मियों पर पथराव किया गया।

घटना का संज्ञान लेते हुए दिल्ली पुलिस ने कहा कि घटना की कानूनी कार्रवाई की जा रही है। एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है।” इससे पहले दिन में दिल्ली पुलिस प्रमुख राकेश अस्थाना ने बताया कि मामले में अब तक 23 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

उन्होंने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “घटना के दौरान पुलिस कर्मियों और एक नागरिक सहित 9 लोग घायल हो गए। सीसीटीवी फुटेज और डिजिटल मीडिया का विश्लेषण किया जा रहा है।”

अस्थाना ने कहा, “कुछ लोग सोशल मीडिया के माध्यम से शांति भंग करने की कोशिश कर रहे हैं। हम सोशल मीडिया पर कड़ी निगरानी रख रहे हैं और गलत सूचना फैलाने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। जनता को अफवाहों पर ध्यान नहीं देना चाहिए।”

दिल्ली पुलिस आयुक्त ने यह भी कहा कि हनुमान जयंती जुलूस के दौरान एक मस्जिद में भगवा झंडा फहराने का कोई प्रयास नहीं किया गया।

राष्ट्रीय राजधानी के जहांगीरपुरी इलाके में हनुमान जयंती जुलूस के दौरान झड़प के दो दिन बाद मीडिया ब्रीफिंग हुई। दो समुदायों के बीच झड़प के दौरान पथराव और आगजनी हुई और कुछ वाहनों को भी आग के हवाले कर दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.