पानी के बीच के एक हाईवे को भारत का वाटर हाईवे बताकर सोशल मीडिया के विभिन्‍न प्‍लेटफार्म पर वायरल किया जा रहा है।

जब इसकी पड़ताल असली न्‍यूज टीम ने की तो पाया वायरल दावा फर्जी है। दरअसल वायरल वीडियो चीन का है। इसका भारत से कोई संबंध नहीं है।

वायरल वीडियो के साथ दावा किया गया : ‘Incredible India 🇮🇳! I finally encountered the most beautiful water highway.’

हिंदी में इसका अनुवाद है : ‘इन्क्रेडिबल इंडिया, मुझे आखिरकार सबसे खूबसूरत वाटर हाईवे मिल गया।’

वायरल वीडियो की पड़ताल के लिए असली न्‍यूज ने सबसे पहले वायरल वीडियो को इनविड टूल में अपलोड करके कई कीफ्रेम्‍स निकाले। फिर इन्‍हें यान्‍डेक्‍स और गूगल रिवर्स इमेज टूल में अपलोड करके सर्च किया। ओरिजनल वीडियो हमें चीन के मीडिया संस्‍थान पीपुल्‍स डेली के फेसबुक पेज पर मिला। इसे 10 जुलाई 2021 को अपलोड करते हुए बताया गया कि यह वीडियो चीन के जियांग्‍शी प्रांत का है। जब पानी का स्‍तर 18.67 मीटर से ज्‍यादा हो जाता है तो हाईवे का एक हिस्‍सा पानी में मिल जाता है।

अपनी पड़ताल को जारी रखते हुए हमने सर्च को आगे जारी रखा। योंगवु वाटर हाईवे के नाम से फेमस इस हाईवे का का वीडियो हमें यूट्यूब चैनलों पर मिला। Hi China नाम के एक यूट्यूब पर मौजूद वीडियो में बताया गया कि पोयांग झील के ऊपर बनाए गए रोड को ‘द मोस्‍ट ब्‍यूटीफुल रोड अंडर द वाटर’ कहा जाता है।

अतः हमारी पड़ताल में यह स्पष्ट हो गया कि भारत के वाटर हाईवे के नाम पर वायरल किया जा रहा वीडियो चीन का है। इसका भारत से कोई संबंध नहीं है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.