उत्तर प्रदेश के अमरोहा जिले में दर्जनों गायों की मौत से हड़कंप मच गया है। इस मामले को राज्य सरकार ने काफी गंभीरता से लिया है। मिल रही जानकारी के मुताबिक, हसनपुर के सांथलपुर गांव के गोशाला में जहरीला चारा खाने से 60 गोवंश की मौत का दावा किया जा रहा है। मौत का मामला जैसे ही सामने आया, सुदर्शन न्यूज़ ने इस मामले के पीछे जिहादी षड्यंत्र का संदेह जताया। जिसके बाद अमरोहा डीएम बालकृष्ण त्रिपाठी ने पूरी स्थिति का जायजा लिया। डीएम ने विलेज डेवलपमेंट ऑफिसर को तत्काल निलंबित कर दिया है। इस मामले में चारा बेचने वाले ताहिर के खिलाफ केस दर्ज कराया गया है। गौशाला में चारा खाने वाले अन्य गायों की स्थिति नाजुक बनी हुई है। वेटनरी डॉक्टर मौके पर पहुंचे हैं और इलाज चल रहा है।

इस मुद्दे को सुदर्शन न्यूज़ के प्रधान संपादक सुरेश चव्हाणके ने अपने शो “बिंदास बोल” में उठाया। उन्होंने इसे भूसा जिहाद बताया है। इसके अलावा दिल्ली एनसीआर के एक प्रमुख शहर में, अमरावती महाराष्ट्र में हुई गायों की मौतों के पीछे भी ताहिर षड्यंत्र का हाथ बताया है।

बता दें की गायों के लिए ताहिर से भूसा ख़रीदा गया था जिसके बाद एक एक कर गायों की मृत्यु होनी शुरू हो गयी। और देखते ही देखते 61 गायों की मृत्यु हो गयी। जिस पर कार्यवाही करते हुए डीएम ने चारा विक्रेता के खिलाफ केस दर्ज कराते हुए तत्काल गिरफ्तारी के आदेश जारी किए है। ड्यूटी में लापरवाही मामले में ग्राम विकास अधिकारी मोहम्मद अनस को निलंबित कर दिया गया है। बीमार पशुओं का इलाज चल रहा है। डीएम ने 61 गायों की मौत की पुष्टि की है। उन्होंने कहा है कि बाकी गायों का इलाज चल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.