एक शख्स का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। जिसमें वो राजनीति और अपराधीकरण के मुद्दे पर बात कर रहे हैं। वीडियो को शेयर करते हुए यूजर्स दावा कर रहे हैं कि यह व्यक्ति 1977 बैच के आईपीएस अफसर और लखनऊ के डायरेक्टर जनरल ऑफ़ पुलिस शैलजाकांत मिश्र हैं।

जब हमने इसकी पड़ताल की तो पाया वायरल दावा गलत है। वीडियो में नजर आ रहा शख्स बिजनेसमैन और यूट्यूबर नीतीश राजपूत है।

सच्चाई जानने के लिए हमने वीडियो के कई कीफ्रेम्स निकाले और उन्हें गूगल रिवर्स इमेज की सहायता से सर्च किया। जिसके बाद हमें पूरा वीडियो नीतीश राजपूत नामक एक यूट्यूब चैनल पर 26 जुलाई को अपलोड मिला। इस चैनल को खंगालने पर हमने पाया कि वीडियो में नजर आ रहे शख्स का नाम नीतीश राजपूत है।

अपनी पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए हमने नीतीश राजपूत के सोशल मीडिया अकाउंट्स को सर्च किया। नीतीश राजपूत के ट्विटर और इंस्टाग्राम प्रोफाइल के अनुसार, उनके पास इंजीनियरिंग की डिग्री है और वे पेशे से बिजनेसमैन हैं। साथ ही वह अपना यूट्यूब चैनल चलाते हैं।

हमारी पड़ताल में ये साबित हो गया कि वायरल वीडियो में नजर आ रहा शख्स आईपीएस शैलजाकांत मिश्र नहीं, बल्कि यूट्यूबर नीतीश राजपूत है। इसके बाद हमने आईपीएस शैलजाकांत मिश्र के बारे में सर्च करना शुरू किया। हमने पाया कि वह एक सेवानिवृत्त आईपीएस अधिकारी हैं और यूपीबीटीवीपी के उपाध्यक्ष हैं।

अतः अपनी पड़ताल में हमने पाया कि आईपीएस शैलजाकांत मिश्र के नाम से वायरल वीडियो को लेकर किया जा रहा दावा गलत है वीडियो में नजर आ रहा शख्स बिजनेसमैन और यूट्यूबर नीतीश राजपूत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.