सोशल मीडिया पर एक बैठे शख्स का 37 सेकंड का वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो को शेयर कर कुछ यूजर्स दावा कर रहे हैं कि युवक ने प्रयागराज के सिविल लाइन हनुमान मंदिर में नमाज पढ़ी है।

जब इस वायरल वीडियो की पड़ताल असली न्यूज टीम ने की तो पाया कि वीडियो को गलत दावे से वायरल किया जा रहा है। दरअसल, वीडियो में दिख रहा युवक मंदिर में पूजा कर रहा था, जिसे सोशल मीडिया पर गलत दावे से शेयर किया गया। प्रयागराज पुलिस ने ऐसी भ्रामक सूचनाएं शेयर नहीं करने की अपील की है।

वायरल दावे की पड़ताल करने के लिए सबसे पहले हमने कीवर्ड से इसे गूगल पर ओपन सर्च किया। इसमें हमें News18 Virals यूट्यूब चैनल पर वीडियो न्यूज मिली। इसमें वायरल वीडियो को भी देखा जा सकता है। इस वीडियो के मुताबिक, युवक ने बाद में कहा कि वह पूजा कर रहा था। वज्रासन मुद्रा में बैठने के कारण लोगों ने उसे नमाज पढ़ते समझा। युवक का नाम वैभव त्रिपाठी है।

आगे पड़ताल करते हुए यह खबर हमें दैनिक जागरण में मिली। खबर के अनुसार, प्रयागराज के सिविल लाइन स्थित हनुमान मंदिर में एक शख्स को नमाजी बताकर उसकी फोटो शेयर की जा रही है। जांच में पता चला है कि युवक का नाम वैभव त्रिपाठी है। पुलिस पूछताछ में नमाज पढ़ने जैसी कोई बात सामने नहीं आई है। वैभव वज्रासन मुद्रा में पूजा करते हैं। 18 सितंबर की शाम को भी वह हनुमान मंदिर में पूजा कर रहे थे। इस बीच किसी ने उनकी वीडियो बना ली और सोशल मीडिया पर गलत दावे से वायरल कर माहौल खराब करने की कोशिश की।

अतः असली न्यूज़ की पड़ताल में यह स्पष्ट हो गया कि प्रयागराज के मंदिर में युवक ने वज्रासन की मुद्रा में पूजा की थी। उस वीडियो को सोशल मीडिया पर गलत दावे के साथ वायरल कर दिया गया। पुलिस ने भी नमाज पढ़ने के दावे को अफवाह बताया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.